अस्पताल की लापरवाही से हुई जच्चा-बच्चा की मौत, परिजनो ने काटा हंगामा

रिपोर्ट – सुमित शर्मा (बुलंदशहर)

उत्तर प्रदेश – यूपी के बुलंदशहर में एक प्राईवेट- अस्पताल में डिलीवरी के दौरान मासूम बच्ची व मां की मौत होने से गुस्साये परिजनों ने अस्पताल पर जमकर हंगामा किया तो अस्पताल संचालक डाक्टर अस्पताल छोडकर फरार हो गया।


 दरअसल, बुलन्दशहर के पहासू में स्थित बांके बिहारी नर्सिंग होम में शनिवार को डिलीवरी के दौरान सुनीता व उसकी नवजात बच्ची की मौत हो गयी। परिजनों ने डाक्टर पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया और अस्पताल के बाहर आरोपी डाक्टर चौधरी श्यामवीर पर कानूनी कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गये।


राजू की माने तो सुनीता की तबीयत खराब होने पर डाक्टर से बार-बार सही इलाज करने की गुहार लगाता रहा। लेकिन राजू की गुहार का डाक्टर पर कोई असर नही हुआ। डॉक्टर श्यामवीर की बात करे तो डॉक्टर पर नर्सिंग होम चलाने के लिए कोई भी एमबीबीएस डॉक्टर नहीं है। अगर श्यामवीर की बात करे तो श्यामवीर के पास भी कोई भी डिग्री नहीं है। नर्सिंग होम में अंदर जाकर देखा तो वहा एक बड़ा ऑपरेशन रूम व कई मरीज नर्सिंग होम उपचार कराते हुए नजर आये। देखने की बात ये है कि आख़िरकार इतना बड़ा नर्सिंग होम बिना किसी रजिस्टेशन के किसकी सह पर चल रहा है। आखिर इन दो मौतों का जिम्मेदार कौन है। प्रदेश सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था सुधारने के लिए लाख कोशिश कर रही है लेकिन बुलंदशहर की स्वास्थ्य व्यवस्था की बात करे तो यहां की स्वास्थ्य व्यवस्था का भगवान ही मालिक है। वही पॉलिसी मामला दर्ज कर नर्सिंग होम को सील कर दिया है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com