मुजफ्फरनगर की मीडिया का एतिहासिक दिन, एक हुए नदी के दो किनारे उत्तम शर्मा और अनिल रायल !

मुजफ्फरनगर की मीडिया के लिए बुधवार का दिन बेहद खास रहा। डीएम राजीव शर्मा की कोशिश के बाद मीडिया सेंटर और प्रेस क्लब के साथ-साथ रविंद्र चैधरी वाले गु्रप के एक होने के संकेत मिल रहे है, जिसकी घोषणा बुधवार को रायल बुलेटिन के संपादक और मीडिया सेंटर के अध्यक्ष अनिल रायल ने भरे मंच से करके सबको हैरत में डाल दिया। उन्होंने खुले मंच से मीडिया सेंटर का दायित्व प्रेस परिषद के सदस्य एवं जिले के वरिष्ठ पत्रकार उत्तम चंद्र शर्मा को सौंपने की घोषणा की।

 

“कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता,

…… एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों” !!

कविराज दुष्यंत कुमार की ये लाइनें उस वक्त चरित्रार्थ होती नजर आई, जब मुजफ्फरनगर के जिलाधिकारी राजीव शर्मा की एक छोटी सी कोशिश ने जिले के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ दिया…. और ये इतिहास है नदी के उन दो किनारों को एक करने का, जो करीब दो दशकों से आमने-सामने खड़े थे। जी हां… हम बात कर रहे हैं मुजफ्फरनगर मीडिया की उन दो शख्सियतों के बारे में, जिन्हें एक करने के लिए ना जाने कितनी कोशिशों नाकाम रही। मगर आज भरे मंच से रायल बुलेटिन के प्रधान संपादक एवं मीडिया सेंटर के अध्यक्ष अनिल रायल ने अचानक वो घोषणा कर डाली, जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। अनिल रायल ने मंच से कहा कि मीडिया सेंटर को उत्तम चंद्र शर्मा ने स्थापित किया था और आज मैं भरे मंच से ये घोषणा करता हूं कि मीडिया सेंटर की कमान अब श्रीशर्मा ही संभालें। ये घोषणा होते ही पूरा वातावरण तालियां की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।

रायल बुलेटिन के प्रधान संपादक अनिल रायल को सम्मानित करते डीएम मुजफ्फरनगर राजीव शर्मा

स्वीकार किया आमंत्रण

जिले की पत्रकारिता के पिताभीष्म कहे जाने वाले उत्तम चंद्र शर्मा ने भी अनिल रायल का प्रस्ताव सहर्ष स्वीकार कर लिया है। हालांकि जिले की मीडिया के तीसरे समूह की अनुमति अभी बाकी है। जिसके लिए अनिल रायल ने मंच पर मौजूद वरिष्ठ पत्रकार रविंद्र चैधरी से भी सहयोग की अपील की, जिस पर रविंद्र चैधरी ने समूह के साथियों से वार्ता कर कोई जवाब देने की बात कही।

समाचार TODAY के प्रधान संपादक अमित सैनी को सम्मानित करते हुए वरिष्ठ पत्रकार भारत डोगरा एवं मुजफ्फरनगर डीएम राजीव शर्मा

वरिष्ठ पत्रकार एवं न्यूज18 के जिला प्रभारी बिनेश पंवार को सम्मानित करते हुए डीएम राजीव शर्मा
जवाब का है इंतजार

अब केवल रविंद्र चैधरी वाले गु्रप के जवाब का इंतजार है। अगर इस गु्रप की तरफ से हां होती है तो वो वाकई में एतिहासिक पल रहेगा। क्योंकि इस गु्रप के बाद मीडिया सेंटर एक ऐसा सशक्त और मजबूत संगठन बन जाएगा, जिसमें प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया के धुरंधर पत्रकार शामिल रहेंगे।

 

पत्रकारों को संबोधित करते हुए दैनिक जागरण के सीनियर न्यूज एडीटर मुकेश कुमार
कारों को संबोधित करते हुए दैनिक जागरण के सीनियर न्यूज एडीटर मुकेश कुमार[/caption]

क्या है पूरा मामला

दरअसल… नगर कोतवाली के मुख्य द्वार पर बने मीडिया सेंटर की नींव वरिष्ठ पत्रकार एवं प्रेस काउंसिल के छठी बार निर्विरोध चुने गए सदस्य और मुजफ्फरनगर बुलेटिन के प्रधान संपादक उत्तम चंद्र शर्मा तथा रायल बुलेटिन के प्रधान संपादक अनिल रायल आदि वरिष्ठ पत्रकारों ने मिलकर मीडिया सेंटर की नींव वर्षों पहले रखी थी। उत्तम चंद्र शर्मा पहले अध्यक्ष चुने गए। जिसके बाद आपसी मतभेद की वजह से पत्रकारों के इस सबसे मजबूत संगठन में दो फाड़ हो गई, जिसका परिणाम ये हुआ कि मीडिया सेंटर के वार्षिक चुनाव में अनिल रायल भारी मतों से अध्यक्ष निर्वाचित हुए। हालांकि उस दौर में मीडिया सेंटर के अध्यक्ष पद को लेकर काफी उथल-पुथल रही। निर्वाचित होने के बाद भी अनिल रायल ने अध्यक्ष पद की कुर्सी छोड़कर उत्तम चंद्र शर्मा को ही कार्यभार दे दिया। जिसके बाद कुछ ऐसा हुआ कि प्रशासन मीडिया सेंटर पर काबिज हो गया और ताला लगा दिया गया। कई दिनों तक अनिल रायल आदि ने शिव चौक पर धरना-प्रदर्शन किया, जिसके बाद प्रशासन को घुटने टेकने पड़े और मीडिया सेंटर को वापस पत्रकारों के सुपुर्द कर दिया गया। जिसके बाद अनिल रायल को मीडिया सेंटर का दायित्व सौंपा गया। 

 

डीएम और पत्रकार साथियों के साथ अनिल रायल

लगातार अध्यक्ष चुने गए अनिल रायल


तब से हर साल होने वाले चुनाव में अनिल रायल को ही अध्यक्ष चुना जाता रहा है, हालांकि पिछले कुछ साल पहले अनिल रायल ने स्वेछा से अध्यक्ष पद छोड़ दिया था, लेकिन हाल ही में फिर से समिति का पुर्नगठन हुआ और अनिल रायल को अध्यक्ष चुना गया। जबकि इससे इतर उत्तम चंद्र शर्मा ने मीडिया सेंटर से अलग होने के बाद मुजफ्फरनगर बुलेटिन के आफिस पर ही अलग से प्रेस क्लब आफ मुजफ्फरनगर का आफिस बना लिया था और तब से उत्तम चंद्र शर्मा ही प्रेस क्लब के अध्यक्ष हैं।
जिलाधिकारी राजीव शर्मा को सम्मानित करते हुए जिला सूचना अधिकारी कृष्ण पाल एवं वरिष्ठ पत्रकार सतीश मलिक

डीएम की पहल रंग लाई

दरअसल… जिलाधिकारी राजीव शर्मा की पहल पर जिला प्रशासन द्वारा नुमाइश ग्राउंड में चल रही कृषि एवं औद्योगिक प्रदर्शनी के बीच वर्तमान में पत्रकार एवं पत्रकारिता के समक्ष चुनौतियां के विषयक गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी आयोजित करने के पीछे जिले के तमाम पत्रकारों को एक मंच पर लाना था और डीएम की ये पहल रंग भी लाई।

 

गोष्ठी उपरांत ग्रप फोटो में डीएम और पत्रकार साथी

वक्ताओं ने रखे विचार

दिल्ली से विशेष आमंत्रण पर गोष्ठी में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे वरिष्ठ पत्रकार भारत डोगरा ने अपने विचार व्यक्त कर अपने अनुभव साझा किए। विशिष्ठ अतिथि एवं दैनिक जागरण के सीनियर न्यूज एडिटर मुकेश कुमार ने अपने विचार वक्त करते हुए पत्रकार और पत्रकारिता की तुलना एयर फोर्स से की। उन्होंने कहा कि जैसे एयर फार्स हवाई रास्ते से अपना काम करके आगे बढ़ जाती है और फिर बाकी का काम थल सेना पर छोड दिया जाता है तो ठीक वैसे ही पत्रकार का काम भी समाज, शासन-प्रशासन को आइना दिखाना है, बाकी का काम समाज और सरकारी तंत्र का है। इनके अलावा वरिष्ठ पत्रकार उत्तम चंद्र शर्मा, अनिल रायल, सतीश मलिक, बिनेश पंवार और कपिल कुमार ने भी अपने विचार वक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता डीएम राजीव कुमार ने की। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि कई जिलों में जिलाधिकारी रहा हूं, लेकिन मुजफ्फरनगर जैसी मीडिया कहीं की नहीं है। इसके अलावा नगर मजिस्ट्रेट अमित कुमार ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

कार्यक्रम में मौजूद पत्रकार साथी

 

जिला सूचना विभाग का काबिल-ए-तारीफ कार्य

आयोजन को सफल बनाने में जिला सूचना विभाग का महत्वपूर्ण योगदान रहा। पूरे कार्यक्रम की बागडोर जिला सूचना अधिकारी कृष्ण पाल के नेतृत्व में अनमोल त्यागी ने संभाले रखी। पत्रकारों को आमंत्रित करने से लेकर, चाय-नाश्ते और खाते तक की जिम्मेदारी अनमोल त्यागी और बाबू सुभाष बालियान ने अपनी देखरेख में रखी। पत्रकारों को किसी तरह की कोई परेशानी ना हो, इसका पूरा ख्याल रखा गया था। जिला प्रशासन की तरफ से ये शायद पहला ऐसा पत्रकारों के लिए कार्यक्रम आयोजित हुआ, जो बिना किसी विवाद के सफल रहा। इसके लिए मुख्य रूप से जिला सूचना विभाग तारीफ का हकदार है। 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com