32 हजार फिट की ऊचाई पर विमान की खिड़की टूटने पर मची अफरा तफरी

एक खबर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है. चीन में शिचुआन एयलाइंस के विमान- 3यू8633 में अचानक कॉकपिट की खिड़की टूट गई. उस वक्त विमान करीब 32 हजार फीट ऊपर था. हवा इतनी तेज थी कि को-पायलट विमान से बाहर लटक गया. पैसेंजर्स का सामान तितर-बितर हो गया. विमान में अफरा-तफरी मच गई थी. तेजी से विमान में हवा आने लगी। को-पायलट की तो सीटबेल्ट ही उखड़ गई। वो आधा विमान से बाहर लटकने की स्थिति में आ गया। अफरा-तफरी मच गई। तभी पायलट लियू शुआनजियान ने अनाउंस किया- ‘घबराइए नहीं। स्थिति संभाल लेंगे।’ और इतना कहने के 20 मिनट के अंदर कैप्टन लियू ने 32 हजार फीट की ऊंचाई से विमान सफल लैंडिंग करा दी। 

खिड़की टूटने से विमान के अंदर का तापमान -40 डिग्री पहुंच गया था और हवा से विमान के अंदर खाने-पीने का सामान इधर-उधर बिखर गया। इससे यात्रियों के बीच अफरा-तफरी की स्थिति बन गई। लेकिन पायलट ने अनाउंसमेंट की, 'घबराइए नहीं। हम स्थिति संभाल लेंगे।' और इसके 20 मिनट के अंदर विमान की सफल लैंडिंग करवाई’ 

टेकऑफ और लैंडिंग के 11 मिनट में सतर्क रहें: अगर आप विमान में हों और इमरजेंसी हालात बन जाएं, तो क्या करें? विमान में कुल 11 मिनट बहुत अहम होते हैं। टेकऑफ के समय के 3 मिनट और लैंडिंग के वक्त के 8 मिनट। इनमें खासा सतर्क रहें। विमान में देख लें कि इमरजेंसी एग्जिट से आपकी सीट की दूरी कितनी है?

बड़ा हादसा बचाने वाले पायलट लियू शुआनजियान की काफी तारीफ हो रही है. हादसे को बचाने के बाद लियू ने कहा- 'इस रूट पर मैं 100 से ज्यादा बार उड़ान भर चुका हूं. मुझे उसका फायदा मिला.' बता दें, फ्लाइट के अंदर का तापमान -40 पहुंच चुका था. जिसके बाद पायलट लियू ने 'स्क्वैक वॉर्निग-7700' जारी की.' इसका मतलब है कि विमान को गंभीर खतरा है, एयर ट्रैफिक कंट्रोल को सूचना दी जाती है. उनके निर्देश को पालन करते हुए लैडिंग कराई जाती है. ट्रैफिक कंट्रोल से मदद लेकर उन्होंने सफल लैंडिंग कराई.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com