पुलिस के हत्थे चढ़ा फर्जी ASI , 12 सालो से चल रहा था फरार………….

मैनपुरी से विशाल शर्मा की रिपोर्ट

उत्तर-प्रदेश के जनपद मैनपुरी की पुलिस ने एक फर्जी रिटायर्ड आईएएस और इण्डियन ओशनिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष को गिरफ्तार किया है। पूरा मामला जनपद मैनपुरी के थाना एलाऊ थाना क्षेत्र से जुड़ा है। यहाँ की थाना पुलिस को बड़ी सफलता हासिल तब हुई जब एलाऊ थानाध्यक्ष को सूचना प्राप्त हुई कि जालसाज, चंद्रप्रकाश ब्यास जोकि पिछले 12 वर्षों से इटावा से वांछित चल रहा है औऱ जिस पर बेहद गंभीर आरोप भी लगे थे। वह गोपनीय ढंग से अपने परिजनो से मिलने आ रहा है। सूचना पर थाना पुलिस ने बीती देर रात आरोपी के घर पर दबिश दी और उसे मौके से गिरफ्तार कर लिया। जालसाज पर आरोप है कि रामकिशन सविता (तत्कालीन डिप्टी जेलर) जो कि भ्रष्टाचार के मामले में जिला कारागार इटावा में निरुद्ध था उसकी जमानत के फर्जी रूप से तैयार करवाकर डिप्टी जेलर को रिहा करवा दिया था। उच्च न्यायालय के संज्ञान में ये मामला सामने आया, तो उच्च न्यायालय ने फर्जी बेल कराने की सीबीआई जांच कराई। सीबीआई ने अपनी जांच में उच्च न्यायालय के एडवोकेट आर डी सिंह, रामकिशन सबिता, चंद्र प्रकाश ब्यास, मोहर सिंह को दोषी माना। इसके आधार पर अलोक कुमार सिंह (एडवोकेट जनरल) उच्च न्यायालय ने थाना सिविल लाइन इटावा में एक मुकद्दमा दर्ज करा दिया, जिसके बाद विवेचना प्रारम्भ हुई। विवेचना के दौरान फिर से डिप्टी जेलर रामकिशन को गिरफ्तार किया गया। मामले में आगे पता चला कि आरोपी पैतृक गांव छोड़ परिवार सहित दिल्ली रहने लगा। वहाँ इसने एक राष्ट्रीय पार्टी इंडियन ओसनिक पार्टी बनाई, जिसका अपने आप को राष्ट्रीय अध्यक्ष बताता है ।इसकी पार्टी ने वर्ष 2012 में उत्तर-प्रदेश विधानसभा चुनाव में 112 प्रत्याशियों को चुनाव लड़ाया था। यह बात इसने पूंछ-तांछ में बताई। इस आरोपी की गिरफ्तारी के संबंध में माननीय न्यायालय ने गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम की प्रशंसा की है। वहीं आरोपी ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपो को फर्जी बताया है। पुलिस ने आरोपी युवक को मेडिकल कराने के बाद जेल भेज दिया है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com