पुलिस को अपनी ही महफिल में होना पड़ा शर्मसार

सोचा भी नहीं होगा अपने ही समारोह में पुलिस को इतना बेआबरू होना पड़ेगा। जिन्हे मेहमान सोचकर बुलाया…वहीं मेहमान उनकी इस कदर फजीहत कर देंगे। सरेआम..जो हुआ, उसने…..

भरे महफिल में पुलिस को शर्मसार कर दिया। दरअसल हुआ यूं कि…राजधानी को सुरक्षित बनाने के लिए आपरेशन सिक्योर सिटी के तहत … सीसीटीवी लगाने वाले व्यवसाइयों का आज सम्मान पुलिस कर रही थी। कार्यक्रम मेें शुरुआत में तो सब कुछ ठीक-ठाक रहा..लेकिन जब कार्यक्रम खत्म होने को हुआ…तभी एक व्यवसायी ने पुलिस को खरी-खोटी सुनानी शुरू कर दी। पुलिस के ही कार्यक्रम मेें … आईजी-एसपी की मौजूदगी में पुलिस पर निकल रही भड़ास को सुन पूरे समारोह में सन्नाटा पसर गया। समारोह में सम्मान के बाद जैसे ही धन्यवाद  ज्ञापन के लिए एएसपी विजय अग्रवाल को डायस पर बुलाया गया.. तभी बस कर्मचारी संघ के एक पदाधिकारी अपनी जगह खड़े हो गये और कुछ बोलने की इच्छा जताई। पुलिस को यही लगा.. कि उनके सराहनीय कदम पर वो व्यवसायी भी उनकी तारीफों के पुल बांधेंगा….लेकिन हुआ बिल्कुल उलटा….!!! व्यवसायी बोला….. “हम जिनकी शिकायत करते हैं वो पुलिस के साथ घूमते हैं… थाने में बैठे रहते हैं…!!  हम जाके बोलेंगे ये हैॆ.. उसको बुलाएंगे.. इन्क्वायरी होगी…। और यही वो हमारे खिलाफ लिखा दें… तो सीधा पुलिस आपको उठा के ले जाती है…कि आपके ऊपर ये केस हो गया, FIR हो गया, ये हो गया”। व्यवसायी यही नहीं रूका…बोला-  “ तो आप हमारे ऊपर मत देखो… अपने विभाग को देखो… और सबसे बड़ा ड्रग्स का और गांजा का पूरा अड्डा है सिविल लाइन… पंडरी एरिया …उसपे आप ध्यान दीजिये ! .. ये सब तमाशाबाज़ी बाद की बात है.. पहले ग्राउंड लेबल में आइये”…. हमारे जो भाई साहब के ऊपर हुआ है अटेक…. उसकी जानकारी हम मांगते रहे.. आज तक क्या हुआ?  कोई जानकारी नहीं… लिखित में मांगे, ये मांगे, वो मांगे.. आज 15 दिन हो गया कोई जवाबदारी नहीं… सिर्फ बोलने भर से कुछ नहीं होगा…. अभी ये बता रहे थे कि….”

पुलिस पर इस कदर भड़कते देख एडिशनल एसपी विजय अग्रवाल ने बीच-बचाव की कोशिश की….बोले – ‘आप जानकारी दीजिये कार्यवाही होगी”…..

तो व्यवसायी बोला – सब जानकारी है आपके पास…
विजय अग्रवाल- नीचे लेवल पे नहीं हो रही तो आप ऊपर लेवल पर आइये..

व्यवसायी बोले – मालूम है सर सबको… आप उसपे ध्यान दीजिये..

विजय अग्रवाल- बिलकुल कार्यवाही होगी..

व्यवसायी – बैठने भर से थोड़ी होगा साहब… आप कैमरा लगा लिए अपराधी को पकड़ेंगे.. जब तक हमारी ऐसी-तैसी हो जाएगी…

विजय अग्रवाल- ठीक है, आपके पास जो-जो शिकायतें हैं आप बताइये दूर हो जाएगी…

व्यवसायी – आप नहीं जानते हैं आप… आप नही जानते हैं क्या हो रहा है..

विजय अग्रवाल – जो भी समस्या है कार्यवाही होगी..

जिस दौरान पुलिस को ये खरी-खोटी व्यवसायी सुना रहा था.. उस दौरान एसपी संजीव शुक्ला गाल पर हाथ रख चुप बैठे थे..तो वहीं आईजी प्रदीप गुप्ता अपने अफसरों की कारगुजारी को सुन चेहरा नीचे कर बैठे हुए थे। वहीं दूसरे पुलिसवालों के हाथ-पैर फूले हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com