पंजाब कैबिनेट का फैसला, नशे के सौदागरों को मिलेगी सजा-ए-मौत

पंजाब के लोगों में फैल रहे ड्रग्स की लत पर रोक लगाने के लिए अमरिंदर सरकार ने एक अहम फैसला लिया है। सोवार को कैप्टन अमरिंदर सिंह की अगुवाई में हुई पंजाब कैबिनेट की बैठक में ड्रग्स की तस्करी और पैडलिंग करने वालों को मौत की सजा देने का प्रवाधान किया गया है। इसके लिए पंजाब सरकार की ओर से केंद्र सरकार को औपचारिक प्रस्ताव भेज दिया गया है। केन्द्र से मंजूरी मिलते ही इस प्रस्ताव को लागू कर दिया जाएगा। कैबिनेट की बैठक के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि पंजाब के नौजवान बड़ी तेजी से नशे के शिकार हो रहे हैं। नशा आने वाली पीढ़ियों को बुरी तरह से बर्बाद कर रहा है। इसलिए सरकार ने नशे के कारोबार को जड़ से खत्म करने के लिए इससे जुड़े कारोबारियों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग का समर्थन किया है। पंजाब में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने सूबे में नशा समाप्त करने की मुहिम छेडऩे के निर्देश जारी किए हैं।  अभी कुछ दिन पहले ही  मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने दावा किया था कि पंजाब में ड्रग्‍स सप्‍लाई  करने वाले सबसे बड़े तस्‍कर का पता लगा लिया गया है। उस समय दावा किया गया था कि ड्रग्‍स तस्‍कर इस समय हांगकांग की जेल में बंद है और वहीं से पंजाब में नशे का कारोबार कर रहा है। इसी कड़ी में अब पंजाब सरकार ने ये फैसला किया है कि ड्रग्‍स की स्‍मगलिंग और पैडलिंग करने वालों के खिलाफ पंजाब सरकार डेथ पेनल्‍टी का प्रावधान करेगी।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com