पत्थऱबाजी करने वाले 6000 युवाओं के खिलाफ मुकदमा वापस लेने का फैसला : राजनाथ सिंह

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि सुरक्षा बलों पर पत्थऱबाजी करने वाले 6000 युवाओं के खिलाफ मुकदमा वापस लेने का फैसला किया है। गुरुवार को दो दिवसीय दौरे पर श्रीनगर पहुंचे राजनाथ ने शेर-ए-कश्मीर इंडोर स्टेडियम में 6 हजार से अधिक युवाओँ को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चे गलतियां कर सकते हैं। यही कारण है कि सरकार ने उन बच्चों के खिलाफ मुकदमा वापस लेने का फैसला किया है, जिन्हें पत्थरबाजी के लिए गुमराह किया गया था। राजनाथ ने कहा कि हर जगह के बच्चे एक समान होत हैं। यही कारण है कि सरकार ने उनके खिलाफ मुकदमा वापस लेने का फैसला किया है। राजनाथ ने कहा कि केंद्र सरकार जम्मू एवं कश्मीर के युवाओं के भविष्य के लिए बहुत चिंतित है। उन्होंने युवाओं से भी अपील की कि वे विकास के मार्ग का पालन करें न कि विनाश के रास्ते पर चलें। राजनाथ ने खेल के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए राज्य सरकार की सराहना की। राजनाथ ने कहा कि यह पहली बार है जब उन्होंने जम्मू-कश्मीर में युवाओं और खिलाड़ियों को संबोधित किया है। इस दौरान अपने भाषण में राजनाथ अलगाववादियों पर भी जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि अलगाववादी चाहे जैसी भी राजनीति करें…वे कश्मीर बच्चों के भविष्य से न खेलें। वे केवल कश्मीर के बच्चे नहीं हैं। बल्कि पूरे देश के बच्चे हैं। राजनाथ ने कहा कि अलगाववादी अपने बच्चों को तो अच्छी शिक्षा देते हैं, लेकिन दूसरों के बच्चों को पत्थरबाज बना देते हैं।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com