आरक्षण मुक्त भारत की मांग

प्रेमबाबू शर्मा

नई दिल्ली।  बेरोजगार आदमी अधिकार पार्टी (बाप) द्वारा जंतर मंतर पर विशाल धरना प्रदर्शन किया गया, जिसमे हजारों की संख्या में लोगों ने जातिगत आरक्षण के खिलाफ अपना रोष प्रकट किया। आन्दोलन की अध्यक्षता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री सीतेश पाठक ने की।
सीतेश पाठक ने विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि ‘ जातिगत आरक्षण को नेता अपने वोट बैंक के फायदे के लिए कई दशकों से इस्तेमाल करते आ रहे हैं जिससे जातिगत आरक्षण देश के लिए अभिशाप बन चुका है और इसे जड़ से खत्म करना अति आवश्यक हो गया है। आज आजादी के 69 साल बाद भी हमारे देश के गरीब किसान भूख और कर्ज की वजह से आत्म हत्या कर रहे हैं, लेकिन उन्हें कभी आरक्षण का फायदा नहीं मिलता और दूसरी तरफ हमारे देश के अमीर नेता अरक्षित सीट से चुनाव लड़ कर आरक्षण का फायदा उठाये जा रहें है। हर साल देश के लाखों नौजवान छात्रों का भविष्य जातिगत आरक्षण की वजह से बर्बाद हो जाता है 85 प्रतिशत अंक लाने के बावजूद उन्हें नौकरी नहीं मिलती दूसरी तरफ 45 प्रतिशत अंक लाने पर ही उन्हें नौकरी मिल जाती है क्यूंकि उनके पास जातिगत प्रमाण पत्र होता है ! आज हमारे देश में योग्यता की कद्र न कर के जाति आधार पर चयन किया जा रहा है फिर हमारा देश कैसे विकास कर सकता है? अब समय आ गया है की आजादी के 69 वर्षों के बाद देश में आरक्षण की व्यवस्था पर समीक्षा की जाए और जातिगत आरक्षण को जड़ से खत्म कर के सभी जरूरत मंद लोगों को संरक्षण दिया जाए ! सीतेश पाठक जी ने बताया कि बेरोजगार आदमी अधिकार पार्टी माननीय प्रधानमंत्री जी से ये मांग की है की एक महीने के भीतर जातिगत आरक्षण पर समीक्षा के लिए कमिटी गठन करें तथा जातिगत आरक्षण को समाप्त कर के सिर्फ जरूरतमंद एवं गरीबों को संरक्षण प्रदान करें, अगर केंद्र सरकार बेरोजगार आदमी अधिकार पार्टी की मांगो को नहीं मानती तो अगले महीने पुरे देश भर में पार्टी के कार्यकर्त्ता सडको पर उतर कर भीषण प्रदर्शन करने के लिए मजबूर हो जायेंगे ।

पार्टी के राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष विक्रांत सिंह ने बताया कि जातिगत आरक्षण की वजह से हमारे देश के प्रतिभाशील नौजवान को विदेशों में जा कर नौकरी करने के लिए विवश होना पड़ता है उनकी योग्यता हमारे देश के काम नहीं आती जो की हमारे देश का बहुत बड़ा नुक्सान है। तथा विक्रांत सिंह ने जनसभा को संबोधित करते हुए ये भी कहा की हमारे देश में 131 लोकसभा सीट तथा 1225 विधान सभा सीट अरक्षित है जिसमे सामान्य जाति के लोगों को चुनाव लड़ने का अधिकार प्राप्त नहीं है जो की बहुत ही दुर्भाग्य पूर्ण है एक तरफ हमारे देश में सभी जाति धर्मो को एक समान माना जाता है और दूसरी तरफ ये भेदभाव सामान्य वर्ग के लोगो के साथ किया जा रहा है।
पार्टी के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दिव्यांशु त्रिपाठी ने बताया की जातिगत आरक्षण का सबसे ज्यादा खामियाजा सामान्य वर्ग के युवाओं को भुगतना पड़ता है क्यूंकि अच्छे कॉलेजों में दाखिले के समय सामान्य वर्ग के छात्रों द्वारा 85ः अंक लाने के वाबजूद उन्हें दाखिला नहीं मिलता। आरक्षण के राजनितिक षड्यंत्र है जिसका सम्पूर्ण रूप से खात्मा होना अति आवश्यक है तभी हमारा देश असल मायने में विकाश कर पायेगा ।

बेरोजगार आदमी अधिकार पार्टी के झारखण्ड प्रदेश प्रभारी आशुतोष ठाकुर जी ने जनसभा को संबोधित करते हुवे कहा की देश में बेरोजगारी का सबसे बड़ा कारण जातिगत आधारित आरक्षण है, दिन रात मेहनत करके पढाई करने के वाबजूद सामान्य वर्ग के नौजवानों को नौकरी नहीं मिलती और उन्हें बेरोजगार हो कर जीवन गुजारने को मजबूर होना पड़ता है । अब समय आ गया है की जातिगत आरक्षण की समीक्षा की जाए ।

बेरोजगार आदमी अधिकार पार्टी के इस आन्दोलन में पुरे देश भर से आरक्षण विरोधी एकत्रित होकर जंतर मंतर से एक साथ हुंकार भर कर अपने आन्दोलन के शुरुआत का आगाज कर दिया है । जम्मू कश्मीर से आये श्री सतपाल शर्मा जी ने बताया कि जातिगत आरक्षण देश की एकता और अखंडता को नष्ट करने के लिए नेताओं द्वारा रचा हुवा षड्यंत्र है जिसका खात्मा करना अति अवश्यक्त है ! हरियाणा प्रदेश प्रभारी चै. धरमपाल सहारण ने बताया की आज देश में आरक्षण सिर्फ गरीब और जरूरत मंदों को ही मिलनी चाहिए इसलिए जल्द से जल्द केंद्र सरकार द्वारा एक कमिटी का गठन कर आरक्षण की समीक्षा की जानी चाहिए ।
इस मौके पर राष्ट्रीय अध्यक्ष सीतेश पाठक, राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष विक्रांत सिंह के अलावा राकेश वत्स, विजय भारद्वाज, गोविन्द शाही, कमल जोशी, आशुतोष, दीपक ठाकुर, अशोक, आशीष जैन, नीरज मिश्रा, धर्मपाल जी, सलिल दीक्षित, कासिफ कुरैशी, प्रिंस यादव आदि सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com