रेवाड़ी गैंगरेप: आरोपियों में एक सेना का जवान भी शामिल, जवान के खिलाफ वारंट जारी

हरियाणा के रेवाड़ी में सीबीएसई की टॉपर रह चुकी छात्रा के साथ बलात्कार के मामले के आरोपी अब तक पुलिस के शिकंजे से बाहर हैं। साउथ रेंज रेवाड़ी के एडीजीपी श्रीकांद जाधविन ने कनीना सामूहिक दुष्कर्म के मामले में एसआईटी का गठन कर दिया है।

एसआईटी की कमान SP मेवात नाजनीन भसीन को सौंपी गई है। DSP कोसली, DSP महेंद्रगढ़, महिला थाना प्रभारी रेवाड़ी, थाना प्रभारी नूह, जिला निरीक्षक नूह व आईटी सेल रेवाड़ी इंचार्ज एसआई उषा रानी को उक्त टीम में शामिल किया गया है।

रेवाड़ी जिले के एक गांव की रहने वाली 19 वर्षीय द्वितीय वर्ष की छात्रा सुबह घर से कोंचिंग के लिए निकली थी कि कनीना बस अड्डे के समीप उसी के गांव के रहने वाली तीन युवक मिले। जिन्होंने छात्रा को अपनी गाड़ी में लिफ़्ट देकर पानी पीने को कहा, अपने गांव से कोंचिंग सेंटर तक पैदल चलने के बाद उस प्यास भी लग गई थी और वह उनको जानती भी थी क्योंकि वह उसके ही गांव के रहने वाले थे।

 पानी में नशीला पदार्थ मिलाया हुआ था। पंकज, मनीष और नीसु नाम के तीन युवक छात्रा को अगवाकर युवक महेन्द्रगढ़ जिले की सीमा से दूर झज्जर जिले की सीमा के खेतों में बने एक कुएं पर ले गए जहां और भी लोग मौजूद थे, और नशे की हालत में सभी ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया। और वापस शाम करीब 4 बजे वहीं कनीना बस अड्डे पर बेसुध हालत में फेंककर वहां से रफूचक्कर हो गए।

वहीं पीड़ित लड़की की मां ने पुलिस पर मामले की अनदेखी का आरोप लगाया है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार पीड़ित लड़की की मां ने बताया कि गुरुवार को कुछ लोगों ने अगवा कर उनकी बेटी के साथ गैंग रेप किया, लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है. 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com