सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के 240 कर्मचारी बीमार, 16 को कैंसर, 95-95 लाख के मुआवजे के साथ कंपनी ने मांगी माफी

दक्षिण कोरिया की सेमीकंडक्टर बनाने वाली सैमसंग इलैक्ट्रॉनिक्स  ने शुक्रवार को अपने उन कर्मचारियों और उनके परिजनों से माफी मांगी जो उसके सेमीकंडक्टर के कारखानों में काम करते वक्त कैंसर से पीड़ित हो गए थे। इसी के साथ चिप बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी का यह दशक भर लंबा विवाद खत्म हो गया। कंपनी के उपाध्यक्ष किम की-नाम ने कहा, हम उन कर्मचारियों और उनके परिवारों से दिल से माफी मांगते हैं जिन्हें कैंसर की बीमारी हुई।

रिपोर्ट के अनुसार सैमसंग की फैक्ट्रियों में काम करने वाले करीब 240 लोग काम करने की परिस्थितियों की वजह से बीमार हो गए। इनमें से करीब 80 की मौत हो गई। बीमार कर्मचारियों और उनके पक्ष में अभियान चलाने वाले समूहों ने सैमसंग के खिलाफ लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी। कुछ दावेदार तो 1984 में बीमार हुए थे। इस महीने सैमसंग ने डील के तहत हर पीड़ित कर्मचारी के लिए 1.33 लाख डॉलर मुआवजा देने का फैसला किया है।

इस डील के दायरे में 16 तरह के कैंसर, कुछ दुर्लभ बीमारियां, गर्भपात और वर्कर्स के जन्मजात बीमारियों से पीड़ित बच्चे आते हैं। यह स्कैंडल वर्ष 2007 में सामने आया, जब सैमसंग की सुवॉन, साउथ सियोल स्थित सेमीकंडक्टर और डिसप्ले फैक्ट्रियों के पूर्व वर्कर्स व उनके परिवारों ने कहा कि कंपनी के स्टाफ में कैंसर या उससे मौतों के मामले सामने आए हैं।

बता दे सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फोन और चिप बनाने वाली कंपनी है। यह सैमसंग ग्रुप की फ्लैगशिप सब्सिडिअरी है। दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था में सैमसंग का दबदबा जगजाहिर है। दक्षिण कोरिया की अर्थव्यवस्था दुनिया की 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और इसमें सैमसंग की प्रमुख भूमिका रही है। 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com