मुजफ्फरनगर में डबल मर्डर से सनसनी, मौसी-भांजे का सिर धड़ से किया अलग

मुजफ्फरनगर में मौसी और उसके महज 5 साल के मासूम भांजे को बड़ी ही बेरहमी से कत्ल कर दिया गया और लाश को गन्ने के खेत में ठिकाने लगाकर फरार हो गए…. दोनों की हत्या धारदार हथियार से गर्दन काटकर की गई…. मंगलवार शाम से गायब चल रहे मौसी-भांजे को तलाश के लिए ग्रामीणों ने जंगल में खोजबीन की तो दोनों की गर्दन कटी लाश बरामद हुई…. इस पूरे मामले में पुलिस की लापरवाही भी सामने आ रही है… क्योंकि दोनों के लापता होने की सूचना थाने में दर्ज करा दी गई थी… मगर पुलिस ने उन्हें खोजने की जरूरत महसूस नहीं की….. लाश को कब्जे में लेने के दौरान पुलिस और ग्रामीणों के बीच नौकझौंक भी हुई
 
रिपोर्ट: संजीव कुमार
 
मुजफ्फरनगर में बुधवार की सुबह दिल दहला देने वाली ख़बर के साथ हुई। मुजफ्फरनगर में 22 साल की युवती और उसके 5 साल के मासूम भांजे की गर्दन काटकर बड़ी ही बेरहमी से हत्या कर दी गई। दोनों की लाश गांव के बाहर गन्ने के एक खेत से बरामद हुई। बच्चे का कटा हुआ सिर जहां धड़ से काफी दूर पड़ा हुआ था तो वहीं युवती का सिर उसके धड़ से उलझा हुआ था। ग्रामीण मौका-ए-वारदात का नजारा देखकर सिहर उठे।
 

मौसी-भांजे थे दोनों

मरने वाली युवती का नाम प्राची था, जबकि बच्चे का नाम नवदीप बताया गया। मासूम बच्चा प्राची की बहन का बेटा था… यानि प्राची का भांजा। दोनों की ही हत्या बड़े निर्ममता से की गई।

शाम से लापता थे दोनों

चश्मदीदों की मानें तो दोनों कल शाम यानि मंगलवार की शाम से गायब थे। प्राची अपने लाड़ले भांजे नवदीप को लेकर जंगल में गई थी, लेकिन वापस नहीं लौटी।
 

पुलिस की लापरवाही

पूरे मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही रही। परिजनों के मुताबिक, देर शाम तक जब दोनों वापस नहीं लौटे तो उन्हें हर संभंव ठिकानों पर तलाश किया गया। जब कोई अता-पता नहीं लगा तो चरथावल पुलिस से मामले की शिकायत कर प्राची और नवदीप को तलाश करने की गुहार लगाई गई। मगर पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर औपचारिकता पूरी कर दी और लापता दोनों को तलाशने की जरूरत नहीं समझी।

 

ग्रामीणों ने खुद की खोजबीन

पुलिस की तरफ से कोई मदद नहीं मिलते देख परिजनों ने प्राची और नवदीप को खुद ही तलाश करने की ठानी और ग्रामीणों के साथ मिलकर बुधवार अल सुबह से ही गांव के आसपास के जंगल में दोनों को तलाशना शुरू कर दिया। ग्रामीणों की मेहनत रंग तो लाई… लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। दोनों को किसी ने बड़ी ही बेरहमी के साथ कत्ल कर दिया था।
 

पुलिस से पहले पहुंची मीडिया

ग्रामीणों ने दोनों की लाशें मिलने की सूचना पुलिस और मीडिया… दोनों को ही एक ही वक्त पर सूचना दी… लेकिन लापरवाही की हद देखिए… पुलिस से पहले मीडिया मौका-ए-वारदात पर पहुंच गई। मीडिया भी मौके पर खड़ी पुलिस की राह तकती रही। चश्मदीदों की माने तो काफी देर बाद पुलिस मौके पर पहुंची।
 

पुलिस और ग्रामीणों में नौंकझौंक

पुलिस की लापरवाही और कार्य प्रणाली से आहत ग्रामीणों ने पुलिस अफसरों को जमकर खरी खोटी सुनाई। यहां तक की लाशों को भी कब्जे में नहीं लेने दिया गया, जबकि पुलिस अफसर ग्रामीणों को ये ही समझाते रहे कि जल्द ही हत्याकांड का खुलासा कर आरोपियों को सलाखों के पीछे धकेला जाएगा, लेकिन ग्रामीण पुलिस की कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे।
 

बेरहमी से किया गया कत्ल

जिस तरह से दोनों की गर्दन काटी गई है, वो दिल दहला देने वाला है। बच्चे का कटा सिर तो उसके धड़ से काफी दूर पड़ा था, जबकि प्राची का भी कुछ ऐसा ही हाल था। उसका सिर बस धड़ के साथ उलझा हुआ पड़ा था।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com