24 September 2020 , Thursday
Login  

नहीं मिली एंबुलेंस तो 18 किलोमीटर ठेले पर पहुंचा अस्पताल, पढ़े पूरी खबर

रिपोर्ट : नीरज शुक्ला
ब्यूरो हेड | बलरामपुर

02-08-2020

87 ने देखा




बलरामपुर। कोरोना संक्रमण के बीच यूपी के बलरामपुर जिले की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों का ना तो इलाज हो पा रहा है, और ना ही उन्हें एम्बुलेंस की सुविधा मिल पा रही है। मरीजों को अस्पताल तक लाने के लिए लोगो को ठेले का सहारा लेना पड़ रहा है। ताजा मामला बलरामपुर का है, जहां पर स्वास्थ्य व्यवस्था ठेले पर नजर आई। बलरामपुर के सोनपुर में रहने वाले आंधी के 15 वर्षीय बच्चे राजाराम की अचानक हालत खराब हो गई। पड़ोसियों ने एम्बुलेंस को फोन किया लेकिन नम्बर नहीं मिल सका। बच्चे की हालत बिगड़ता देख 18 किलोमीटर पिता उसे ठेले पर लाद कर बलरामपुर मेमेरियल अस्पताल पहुंच गया लेकिन इमरजेंसी कक्ष खाली पड़ा मिला। इमरजेंसी के बाहर टहल रहे स्टाफ से बच्चे के इलाज के लिए कई बार कहा लेकिन किसी ने नही देखा और उसे जिले के संयुक्त चिकित्सालय ले जाने को कहा। आंधी अपने जिगर के टुकड़े को ठेलिया से लादकर संयुक्त चिकित्सालय पहुंचा जहां पर डॉक्टरों ने मरीज की हालत गम्भीर देखकर उसे बहराइच के लिए रेफर कर दिया। जहां मरीज का इलाज चल रहा है। प्रभारी सीएमएस ने बताया कि हां उसे यहां संयुक्त हॉस्पिटल बलरामपुर में बेहोशी की हालत गया था, उसकी हालत गंभीर थी इमरजेंसी में उसे देखा गया, हमारे एक डॉ0 और है उन्होंने देखा मैंने भी देखा, हालत गम्भीर थी परिजनों को समझाया गया वो उसे ले जाने को तैयार हो गए, जिसके बाद उसे बहराइच के लिए रेफर कर दिया गया, उस वक्त उसे एम्बुलेंस की सुविधा दे दी गई थी।

FACEBOOK TwitCount LINKEDIN Whatsapp



देश विदेश

© COPYRIGHT Samachar Today 2019. ALL RIGHTS RESERVED. Designed By SVT India