24 September 2020 , Thursday
Login  

राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत हुआ“पहल किट” का वितरण

रिपोर्ट : नीरज शुक्ला
ब्यूरो हेड | बलरामपुर

16-09-2020

469 ने देखा




बलरामपुर। बिटिया सयानी हो गयी है .....। बस इतनी-सी बात दिमाग मे आयी नहीं कि योग्य वर की खोज-बीन शुरू हो जाती है। रिश्तेदारी मे भी शादी की चर्चा आम होने लगती है। दिमाग मे सिर्फ एक ही बात रहती है कि घर और वर ऐसा हो कि बिटिया को कोई तकलीफ न हो। इन सारी तैयारियों के बीच बस एक बात का ध्यान किसी को नहीं रहता है कि बिटिया की उम्र क्या है और वह कितनी सयानी हो गयी है? जी हां हम बात कर रहे हैं बेटियों की शादी की सही उम्र और किशोरावस्था मे गर्भधारण करने से जुड़ी समस्याओं की। किशोरावस्था यानि 20 वर्ष की आयु पूरी होने से पहले गर्भ धारण करना मां व उसके होने वाले शिशु दोनों के लिए चुनौती पूर्ण होता है। जिला महिला चिकित्सालय में तैनात स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डा. ज्योति तिवारी के अनुसार, आधुनिक चिकित्सीय व्यवस्था के बावजूद भी किशोर अवस्था मे गर्भधारण करने वाली माताएं अक्सर कम वजन या समय से पहले शिशुओं को जन्म देती हैं। उनके प्रसव मे जटिलताएं अधिक रहती हैं। शरीर मे खून की कमी और प्री-एक्लेम्पसिया यानि प्रसव से पहले झटके आना आदि के जोखिम बने रहते हैं। उन्होंने बताया कि गर्भावस्था से संबंधित जटिलताएं 15 से 19 वर्ष की महिलाओं में मृत्यु का सबसे आम कारण है। राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के जिला नोडल अधिकारी डा. बी.पी. सिंह के अनुसार, “शादी अगर 18 साल की उम्र में हुई है, तो दो साल बाद यानि 20 वर्ष या उसके बाद की उम्र मे ही गर्भधारण करना चाहिए। इस बीच गर्भनिरोधक साधनों का इस्तेमाल कर गर्भधारण से बचना चाहिए।“ गौरतलब हो कि राष्ट्रीय पारिवारिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण 2015-16 के अनुसार, जिले में 20 से 24 वर्ष की 41.5 फीसदी किशोरियों की शादी 18 वर्ष की उम्र से पहले हो गयी। वहीं 15 से 19 साल की 6.3 फीसदी महिलाएं या तो मां बन गई या गर्भवती हो गई। डा. बी.पी. सिंह का कहना है कि किशोर गर्भावस्था को रोकने के लिए नए शादी-शुदा दंपत्तियों को विभाग द्वारा आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से “पहल किट” का वितरण भी कराया जा रहा है, जिसमें गर्भ निरोधक सामग्री के साथ जानकारी कार्ड, आशा कार्यकर्त्री एवं ए.एन.एम. के संपर्क सूत्र होते हैं।

FACEBOOK TwitCount LINKEDIN Whatsapp



देश विदेश

© COPYRIGHT Samachar Today 2019. ALL RIGHTS RESERVED. Designed By SVT India