02 December 2020 , Wednesday
Login  

गाजियाबादः इस दिव्यांग क्रिकेटर का हौसला देख आप भी रह जाएंगे दंग

रिपोर्ट : समाचार TODAY
Official | गौतम बुद्ध नगर/नोएडा

21 Nov

2K ने देखा




दिल में अगर जज्बा हो तो कोई भी काम नामुमकिन नहीं है, ये बात एक बार फिर गाजियाबाद में एक ऐसे क्रिकेटर ने साबित कर दिखाई है, जो कहने को तो दिव्यांग हैं, लेकिन उनका हौसला किसी इंटरनेशनल क्रिकेटर से कम नहीं। हम बात कर रहे हैं दिव्यांग क्रिकेटर रामबाबू शर्मा की। 7 साल की उम्र में एक ट्रेन हादसे में रामबाबू शर्मा ने अपना एक पैर गंवा दिया था, लेकिन अपनी हिम्मत से उन्होंने अपने क्रिकेटर बनने का सपना पूरा किया। आज रामबाबू शर्मा दिव्यांग क्रिकेट एसोसिएशन के बैनर तले खेलते हैं। आपको बता दे कि फिलहाल रामबाबू यूपी टीम के कैप्टन है। गाजियाबाद में हुए एक दिव्यांग क्रिकेट टूर्नामेंट में उनकी मेहनत से उनकी टीम रनर अप रही। हालांकि कोरोना काल में रामबाबू शर्मा आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं, लेकिन उन्होंने हालातों के सामने हार नहीं मानी है। उनका कहना है कि अपने बचपन के सपने क्रिकेट से वो कभी दूर नहीं हो सकते। अपनी इसी मेहनत की वजह से उन्हें कई सम्मान हासिल हो चुके हैं। उन्हीं से मिली प्रेरणा की वजह से दिव्यांग क्रिकेट टीमें बन पाई हैं। जो अलग-अलग जगहों पर टूर्नामेंट का हिस्सा बन रही है। कहते हैं कि भगवान किसी से कुछ छीनता है तो बदले में बहुत कुछ देता भी है। रामबाबू शर्मा के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। एक पैर से लाचार रामबाबू में भगवान ने कई प्रतिभाएं कूट-कूटकर भर दी।

FACEBOOK TwitCount LINKEDIN Whatsapp

© COPYRIGHT Samachar Today 2019. ALL RIGHTS RESERVED. Designed By SVT India