धन प्राप्ति के लिए दीपावली की रात करे ये उपाय बनी रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा…

हर कोई चाहता है कि मां लक्ष्मी उसे इतनी प्रसन्न हों कि उनके घर धन की कमी कभी न हो। उनके पास धन-संपत्ति हो, दुनिया का हर ऐशो-आराम हो, बैंक बैलेंस हो। लेकिन सिर्फ ऐसा चाहने से कुछ नहीं होता यदि आप इन सब चीजों की चाहत रखते हैं तो उसे पूरा करने के लिए आपको कुछ सार्थक प्रयास भी करना होंगे। अपने काम के प्रति ईमानदारी, मेहनत व लगन से ये सब हासिल किया जा सकता है लेकिन इसके साथ-साथ यदि कुछ अतिरिक्त प्रयास भी किए जाएं तो उसका भी फायदा मिल सकता है। अगर आप चाहते हैं कि देवी लक्ष्मी के कृपा आप पर सदैव बनी रहे तो इसके लिए आगे कुछ उपाय दिए गए हैं।

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कुछ टोटके करने होंगे। तो आइए जानें क्या हैं ये टोटके.

  • दिपावाली वाले दिन लक्ष्मी पूजन के बाद घर के सभी कमरों में शंख और घंटी बजाना चाहिए। इससे घर की सारी निगेटिविटी दूर हो जाएगी।
  • इस दिन तेल का दीपक जलाएं और दीपक में एक लौंग डालकर हनुमानजी की आरती करें।
  • दिपावाली वाले दिन शिवलिंग पर अक्षत यानी चावल चढ़ाएं। ध्यान रहें सभी चावल पूर्ण होने चाहिए। खंडित चावल न हो। ये काम मंदिर में ही करें।
  • महालक्ष्मी के पूजन में पीली कौड़ियां रखें। इससे धन संबंधी सभी परेशानी दूर होगी।
  • लक्ष्मी पूजन में हल्दी की गांठ जरूरी रखें और पूजा के बाद इसे अपने तिजोरी में रखें।
  • दीपावली के दिन झाड़ू अवश्य खरीदना चाहिए। पूरे घर की सफाई नई झाड़ू से करें। जब झाड़ू का काम न हो तो उसे छिपाकर रखें।
  • दीपावाली के दिन किसी मंदिर में झाड़ू का दान करें। यदि आपके घर के आसपास कहीं महालक्ष्मी का मंदिर हो तो वहां गुलाब की सुगंध वाली अगरबत्ती का दान करें।
  • दिपावाली अमावस्या के दिन पड़ती है। इसलिए इस दिन पीपल के पेड़ में जल जरूर दें। इससे शनि के दोष और कालसर्प दोष खत्म हो जाता है। साथ ही देर रात पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीपक जलाएं। ध्यान रखें दीपक लगाकर चुपचाप अपने घर लौट आएं, पलटकर न देखें।
  • दीपावली पर पूजा में लक्ष्मी यंत्र, कुबेर यंत्र और श्रीयंत्र स्थापित करें। स्फटिक का श्रीयंत्र बेहतर होगा।
  • दीपावली की रात लक्ष्मी पूजा करते समय एक थोड़ा बड़ा घी का दीपक जलाएं, जिसमें नौ बत्तियां लगाई जा सके। सभी 9 बत्तियां जलाएं और लक्ष्मी पूजा करें।
  • सर्वप्रथम पूज्य श्रीगणेश जी को दूर्वा अर्पित करें। दूर्वा की 21 गांठ गणेशजी को चढ़ाने से उनकी कृपा प्राप्त होती है। दीपावली के शुभ दिन यह उपाय करने से गणेशजी के साथ महालक्ष्मी की कृपा भी प्राप्त होती है।
  • दीपावाली के दिन श्रीसूक्त एवं कनकधारा स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। रामरक्षा स्तोत्र या हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ भी किया जा सकता है।
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com