अमेरिका के मिसौरी में रेस्तरां में गोलीबारी में तेलंगाना के 26 साल के एक छात्र की मौत

अमेरिका के मिसौरी में रेस्तरां में हुई संदिग्ध लूटपाट की घटना के दौरान गोलीबारी में तेलंगाना के 26 साल के एक छात्र की मौत हो गई. स्थानीय अखबार 'द कन्सास सिटी स्टार' के मुताबिक, मिसौरी यूनिवर्सिटी का छात्र शरत कोप्पू को शुक्रवार को जेस फिश एंड चिकन मार्किट में शाम लगभग सात बजे गोली मारी गई. वह इस रेस्तरां में पार्ट टाइम काम करता था. पुलिस ने रेस्तरां के भीतर गोलीबारी से कुछ मिनट पहले संदिग्ध का एक वीडियो भी जारी किया है और लोगों से संदिग्ध को पहचानने को कहा है. संदिग्ध हमलावर का वीडियो जारी करते हुए उसके बारे में सूचना देने पर 10 हजार डॉलर का इनाम रखा है. 

रिपोर्ट के मुताबिक कंसास पुलिस को शुक्रवार शाम 7 बजे एक रेस्टोरेंट में गोलीबारी की सूचना मिली थी. इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर खून से लथपथ शरत को एक पूल में गिरा पाया. आनन-फानन में युवक को करीब के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. शरत के शरीर पर गोलियों के निशान भी मिले हैं.

फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है लेकिन अभी तक इस मामले में किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है. चश्मदीदों के मुताबिक उन्होंने रेस्टोरेंट से 5 गोलियां चलने की आवाज सुनी थी. शरत कंसास में रहता था और हायर स्टडीज के लिए उसने मिसूरी यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया था.

रेस्तरां में मौजूद एक कर्मचारी ने कैन्ससा सिटी स्टार को बताया कि संदिग्ध ने भूरे रंग की शर्ट पहन रखी थी, जिस पर सफेद रंग की पट्टियां थीं. उसने पैसे मांगे और गोली चला दी. कर्मचारी ने बताया, "इस दौरान लोग खुद को बचाने के लिए यहां-वहां भागे. कोप्पू भी भागा तो संदिग्ध ने उसकी पीठ पर गोली मार दी."
जवान बेटे की मौत के बाद वारंगल में शरत के परिवार में मातम पसर गया है. परिजनों ने राज्य के NRA मंत्री के. वाई. रामाराव से मामले में दखल देकर जल्द से जल्द शरत के पार्थिव शरीर को भारत लाने की गुजारिश की है.

भारत के अलग-अलग हिस्सों से कई युवा नौकरी और पढ़ाई के लिए अमेरिका जाते हैं. लेकिन बीते कुछ साल से लगातार भारतीयों को निशाना बनाया जा रहा है. कंसास, शिकागो, मिसिसिपी में बीते दिनों भी भारतीयों पर हमलों की खबरें आई थीं. पिछले साल दिसंबर में मिसिसिपी राज्य में लूटपाट के दौरान जालंधर के रहने वाले 21 वर्षीय संदीप सिंह की उसके घर के सामने ही गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कंसास में भारतीय इंजीनियर की हत्या की निंदा की थी. व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि राष्ट्रपति ट्रंप प्रवासियों को निशाना बनाकर किए गए इस हमले की निंदा करते हैं. अमेरिकी संसद में अपने संबोधन में भी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा था कि अमेरिका इस तरह की घृणित सोच की निंदा करता है.

पुलिस मामला दर्ज कर तफ्तीश कर रही है. पुलिस ने हत्यारे या हत्या के बारे में सुराग देने वाले को 10 हजार डॉलर इनाम देने की घोषणा की है.

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com