जल्द बदल सकता है मशहूर संगम नगरी इलाहाबाद का नाम, जानिए क्या होगा नया नाम

अभी कुछ ही दिन पहले मुगलसराय जंक्शन का नाम बदलकर दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन रखा गया और अगर योगी सरकार की मेहरबानी रही तो ऐतिहासिक और धार्मिक रूप से मशहूर संगम नगरी इलाहाबाद का नाम भी जल्द बदल सकता है। कुंभ के लिए मशहूर इलाहाबाद को नया नाम देने के लिए यूपी सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने राज्यपाल को पत्र लिखा है। उन्होंने इलाहाबाद का नाम बदलकर 'प्रयाग' करने की सिफारिश की है। बता दें कि 2019 में होने वाले कुंभ आयोजन से पहले योगी सरकार 'इलाहाबाद' का नाम बदलकर 'प्रयागराज' करने की तैयारी में पहले से ही जुट गई है। इसी के मद्देनजर सिद्धार्थनाथ सिंह ने राज्यपाल को पत्र लिखा। पत्र में सिद्धार्थनाथ ने लिखा है कि राज्यपाल ने 'बॉम्बे' का नाम बदलकर 'मुंबई' करने में भी काफी अहम भूमिका निभाई थी। इससे पहले उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मई महीने में 'इलाहाबाद' दौरे के वक्त कहा था कि 'इलाहाबाद' की पहचान यहां तीन नदियों के संगम की वजह से है, इसलिए इसका नाम 'प्रयागराज' होना चाहिए. उन्होंने कुंभ आयोजन से पहले ही इसका नाम बदलने की बात कही थी। सिद्धार्थनाथ सिंह की कवादयद को इसी दिशा में आगे का कदम माना जा रहा है। माना जा रहा है कि योगी सरकार इस संबंध में जल्द ही आदेश पारित कर इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर देगी। इससे पहले अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के नेतृत्व में हिंदू संतों के एक समूह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखने की मांग की थी। मौजूदा केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी 2001 में उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री रहते हुए इलाहाद का नाम बदलकर प्रयागराज करने की कोशिश की थी, लेकिन इसे अमलीजामा नहीं पहना सके थे।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com