घरो के बाहर लगाए मकान बिकाऊ के बैनर, पुलिस पर लगाया एक तरफा कार्यवाई का आरोप

यूपी के मेरठ जिले में एक बार फिर से साम्प्रदायिक तनाव देखने को मिल रहा है। यहां गाँव के कई लोगो ने पुलिस पर एक तरफा कारवाई का आरोप लगाते हुए गॉव से पलायन करने का ऐलान किया है। बाकायदा अपने घरो के बाहर पलायन और मकान बिकाऊ के बैनर लगा दिए है। वही पलायन की बात से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है

दरअसल मेरठ में गाँव लिसाड़ी में दो सम्प्रदाय के लोगो के बीच 21 जून को बाइक की टक्कर को लेकर विवाद हुआ था, जिसमें पुलिस ने एक पक्ष के दो लोगो पर कार्यवाही करते हुए जेल भेज दिया और दूसरे पक्ष को थाने से ही छोड़ दिया था। पुलिस की इस करवाई से परेशान दूसरे पक्ष के लोगों ने एक तरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए अपने घरों के बाहर " ये मकान बिकाऊ है। साथ ही यहां छोटी छोटी बातों पर साप्रदायिक विवाद बनते है, के पोस्टर चस्पा कर दिये, और गाँव लिसाड़ी के करीब 100 से अधिक घरों ने भी गाँव से पलायन करने का फैसला कर लिया है। उन्होने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि या तो वो उनके यह मकान खरीद ले या दूसरे सम्प्रदाय के लोग उनके मकान खरीद ले ताकि यह लोग कही और जाकर शांति से रह सके। गौरतलब है कि कैराना पलायन के वक्त भी कुछ लोगो से गाँव से पलायन किया था और ये खबर हर जगह प्रमुखता से फैली। इस बार मेरठ में यही हालत बनाये गए है। पीड़ित मुस्लिम समाज के लोग है। देखने वाली बात ये होगी कि राजनीति करने वाले नेता इस मुद्दे को क्या मोड़ देते है। क्या प्रशासन दोनों पक्षों पर कार्रवाई का भरोसा देता है या फिर ये लोग अपने घर बेचकर गांव से पलायन कर जायेंगे।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com