‘टीपू’ ने खाली किया बंगला, सजावट में खर्च किये थे करोड़ो !

शुरुआती नानुकूर के बाद आखिरकार समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव को अपना सरकारी बंगला खाली करना  ही पड़ा। इस सरकारी बंगले से उन्हें बहुत मोह था। यही कारण है कि वो इस बंगले को खाली नहीं करना चाहत थे। इसके लिए उन्होंने हर पैंतरे अपनाए। तर्क दिया कि इतने कम समय में उनके लिए बंगला खाली करना मुमकिन नहीं है। उन्हें कम से कम दो साल का समय दिया जाए। लेकिन उनकी एक नहीं चली और उन्हे बंगला खाली करना पड़ा। शनिवार को अखिलेश ने बंगले को अधिकृत तौर पर पूरी तरह से खाली कर दिया। शनिवार दोपहर अखिलेश यादव परिवार समेत वीवीआईपी गेस्ट हाउस के कमरा नंबर-209 में शिफ्ट हो गए। यादव परिवार ने इसके बाद शहीद पथ के पास स्थित अंसल गोल्फ सिटी में 2 बंगले को किराया पर लिया है, जिस पर काम चल रहा है। बताया जा रहा है कि तीन-तीन करोड़ के दो बंगलों को मिलाकर एक विला बनाया जाएगा और अखिलेश का परिवार इसी में रहेगा। अखिलेश ने बंगले की सजावट में करोड़ों रुपया खर्च किया गया था। इसमें सुख सुविधाओं का हर इंतजाम किया गया था. लेकिन इसे खाली करते वक्त बुरी तरह से उजाड़ दिया गया। यह बंगला तीन बंगलों को तोड़ कर बनाया गया था। यह मुलायम सिंह यादव के बंगले से भी बड़ा था। अखिलेश और उनका परिवार इस बंगले को बहुत पसंद करता था। इसमें इटैलियन टाइल्स लेकर इटैलियन ग्लास तक लगे थे। सरकारी बंगले में बड़ी संख्या में विदेशी पौधे भी लगाए गए थे। लेकिन बंगला छोड़ने से पहले इसे बुरी तरह से उजाड़ दिया गया। जब राज्य संपत्ति विभाग के अधिकारी अखिलेश के सरकारी आवास पर पहुंचे तो उसकी हालत देखकर दंग रह गए। सुविधाओं के लिए लगाया गया हर सामान निकाल लिया गया है। स्विमिंग पूल को सीमेंट से भर कर बंद करा दिया गया है। फॉल सीलिंग्स और वायरिंग को उखाड़ दिया गया है. बिजली के सामान को निकाल लिया गया है तो बाथरूम की टोंटियां तक टूट गई हैं। साथ ही अखिलेश यादव ने जो महंगे शीशे सरकारी बंगले में लगवाए थे उसे भी निकलवा दिया है। विदेशी पेड़-पौधों को भी नए घर में शिफ्ट किया गया है। कहा जा सकता है कि जो बंगला कभी अपनी भव्यता के लिए विख्यात था…वह अब खाली है…उजाड़ है…वहां सन्नाटा पसरा हुआ है..वो किसी भूत महल से कम नहीं लगता है। इससे पहले सपा संरक्षक मुलायम सिंह ने शुक्रवार शाम अपने सरकारी आवास 5 विक्रमादित्य मार्ग को खाली कर वीवीआईपी गेस्ट हाउस के कमरा नंबर-102 में शिफ्ट हो गए।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com