तीन तलाक के बाद हलाला के खिलाफ उठी आवाज़, राष्ट्रीय मुस्लिम मंच ने दिया समर्थन

रिपोर्ट – सुमित शर्मा

Edit By – अनुज पांचाल

उत्तर प्रदेश – तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुस्लिम समाज में बहुविवाह और निकाह-हलाला के खिलाफ भी आवाज उठने लगी है। बुलन्दशहर की 27 वर्षीय फरजाना ने बहुविवाह और निकाह हलाला को असंवैधानिक करार देने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर रखी है। फरजाना के समर्थन में अब मुस्लिम राष्ट्रीय मंच भी सामने आ गया है। मंच के प्रदेश संयोजक कदीम ने रविवार को बुलन्दशहर के सिकंदराबाद पहुंचकर तीन तलाक पीड़िता फरजाना से मुलाकात की और हर कदम पर उसका साथ देने का भरोसा दिया। उन्होंने तीन तलाक और हलाला का  विरोध किया।

दरअसल फरजाना की शादी 25 मार्च 2012 को मुस्लिम रीति रिवाजों से अब्दुल कादिर से हुई थी। फरजाना का आरोप है कि ससुरालियों ने उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया और पति उससे मारपीट करने लगे। 2014 में कदीम ने उसे तीन तलाक दे दिया। उसके बाद से ही फरजाना अपनी बेटी के साथ अपने माता-पिता के यहां रह रही है। फरजाना का कहना है कि कुछ वक्त उसका पति उसे रकने के लिए तैयार हो गया। लेकिन उसने हलाला की शर्त रख दी। जिसे उसने ठुकरा दिया। फरजाना ने सिकंदराबाद कोतवाली में  पति  और एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। पुलिस ने फरजाना की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर ली है।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com