केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कश्मीर को दिया ईद का तोहफा

जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर गए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने दौरे के दूसरे और अंतिम दिन सूबे के हालात को दुरुस्त करने और लोगों की समस्याओं को दूर करने के लिए कई बड़े ऐलान किए। राजनाथ ने कहा कि नियंत्रण रेखा पर रहने वाले और पाकिस्तान की गोलीबारी के कारण हर वक्त दशहत के साये में जीने वाले परिवारों के लिए 14560 बंकर बनाये जाएंगे। राजनाथ ने पश्चिम पाकिस्तान से आकर जम्मू-कश्मीर में बसने वाले प्रत्येक शरणार्थी परिवार को साढ़े पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लिए नौ बटालियन गठित की जाएंगी, जिसमें से दो बटालियन सिर्फ सीमा के आसपास रहने वाले युवाओं के लिए होंगी। इनका नाम भी बॉर्डर बटालियन होगा। इन बटालियनों में 5000 लोगों को नियुक्त किया जाएगा। इनमें से 60 फीसदी आरक्षण नियंत्रण रेखा के 10 किलोमीटर तक के दायरे के भीतर रहने वाले लोगों को मिलेगा।

सिंह ने कहा कि पहले सीमा पर गोलीबारी में किसी तरह की कैजुअल्टी होने पर 75 हजार या एक लाख रुपये मुआवजा देने की व्यवस्था थी, जिसको अब बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दिया गया है. साथ ही इसको प्राप्त करने की अवधि को भी समाप्त कर दिया गया है । उन्होंने कहा कि पहले गोलीबारी या किसी घटना में जानवरों के मरने पर 30 हजार प्रति पशु मुआवजा मिलता था, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 50 हजार रुपये कर दिया गया है। इसके साथ ही मुआवजा देने के लिए तीन जानवरों की सीमा को भी खत्म कर दिया गया है। दरअसल, पहले चाहे जितने भी जानवर मरें, लेकिन मुआवजा अधिकतम तीन जानवरों का ही दिया जाता था। उन्होंने सीमावर्ती इलाकों के लिए पांच बुलेट प्रूफ एंबुलेंस मुहैया कराने का भी ऐलान किया।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com