चुनावी मुद्दा बना अभिषेक सोनी हत्याकांड में चीता गिरफ्तार और साथ ही…

महफूज़ अलवी (मेरठ)

उत्तर प्रदेश: मेरठ में बीजेपी के चुनावी मुद्दे में शामिल रहे अभिषेक सोनी हत्याकांड के मुख्यारोपी चीता को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात के डेढ़ महीने बाद पुलिस इन बदमाशों पर शिकंजा कस सकी है। चीता और उसके 4 साथियों ने रेकी के बाद की गये लूटकांड में अभिषेक की गोली मारकर हत्या कर दी थी।बता दें कि  पुलिस को किन्नर हत्याकांड में भी चीता की तलाश थी। 

दरअसल, चीता उर्फ कासिम, पेशे से लुटेरा और सुपारी किलर है जिसे मेरठ की सदर थाना पुलिस ने एक मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया ।चीता के साथ उसका साथी शिवा पंडित भी पुलिस के हत्थे चढ़ा गया। गौरतलब है कि चीता ने अपने चार साथियों के साथ मिलकर 2 फरवरी 2017 को मेरठ के ब्रह्मपुरी इलाके में गुटका कारोबारी अभिषेक सोनी की हत्या कर दी थी। लुटेरों को सुराग मिला था कि अभिषेक सोनी का किसी से 3 लाख रूपये का लेन-देन हुआ है। इसी रकम को लूटने के लिए लुटेरों ने गोलियां चलाई और चार लोगो को अपनी गोली का निशाना बनाया था। शहर के पॉश इलाके में हुई इस वारदात के बाद से मेरठ पुलिस की कार्यशैली सवालों के घेरे में थी। 

 बता दें कि बीजेपी ने इस वारदात को सपा सरकार को निशाना बनाते हुए चुनावी मुद्दा बना दिया था। वारदात के अगले दिन इसी इलाके में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का रोड-शो था। लेकिन चुनावी कैम्पेन में आये अमित शाह ने अभिषेक की हत्या को बड़ा मुद्दा बनाकर अपना रोड-शो रद्द कर दिया था। पुलिस डेढ़ महीने में अभिषेक के दो हत्यारों को पकड़ पायी जबकि तीन बदमाश अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दुर है। पकड़े गये बदमाश चीता की पुलिस को बहुचर्चित किन्नर हत्याकांड में भी तलाश थी। चीता ने अपने साथियों के साथ मेरठ के साकेत इलाके में आईजी आवास के पास किन्नर की सरेआम दिनदहाड़े हत्या कर दी थी। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com