स्पेन में 5 लड़कों ने गैंगरेप कर बनाया VIDEO, कोर्ट ने कहा- यह रेप नहीं

ब्यूरो रिपोर्ट समाचार टूडे

स्पेन में रेप का एक मामला सामने आया है , रेप के इस मामले में कोर्ट के फैसले को लेकर इन दिनों लोग सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं. दरअसल मामला यह था , एक 18 साल की एक लड़की के सात कथित तौर पर गैंगरेप और उसका वीडियो बनाने के मामला सामने आया जिसमें अदालत ने 26 अप्रैल को पांचों आरोपियों को बरी कर दिया है. कोर्ट ने इन्हें गैंगरेप का आरोपी न मानकर यौन उत्पीड़न का दोषी माना है. सभी 5 लोगों को 9 साल की सज़ा सुनाई गई है.आपको बता दें कि स्पेन में गैंगरेप की तुलना में यौन अपराध या उत्पीड़न को ज्यादा सीरियस क्राइम नहीं माना जाता.

मामले को लेकर कोर्ट में करीब 2 साल तक सुनवाई चली। कोर्ट ने आरोपियों को सेक्शुअल असॉल्ट के केस से बरी करते हुए उन्हें सेक्शुअल एब्यूज का दोषी माना। इसके तहत आरोपियों को केवल 9 साल की सजा सुनाई गई। जबकि, पीड़िता के वकील ने कम से कम 22 साल की सजा की मांग की थी। कोर्ट ने सभी आरोपियों को महिला को 8-8 लाख रुपए देने के भी आदेश दिए।

 ये घटना साल 2016 में 'बुल फेस्टिवल' के दौरान हुई थी. पुलिस को शिकायत दी गई थी कि 5 लड़कों ने लड़की के साथ गैंगरेप किया और वीडियो बनाकर व्हाट्सऐप ग्रुप पर शेयर कर दिया. लेकिन, कोर्ट ने इसे गैंगरेप की घटना मानने से इनकार कर दिया. कोर्ट ने इसे आपसी सहमति से किए गए ग्रुप सेक्स के दौरान हुआ यौन उत्पीड़न माना.

लड़की ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. फिर कोर्ट में दो साल तक केस चला. सुनवाई के दौरान वो वीडियो भी पेश किया गया, जो आरोपियों ने बनाया था. वीडियो में लड़की की आंखे बंद थी और वह 'पैसिव मोड' में थी यानी इस दौरान वो खुद को बचाने के लिए हाथ पैर नहीं मार रही थी. कोर्ट में आरोपियों के वकील ने इस बात को इस तरह पेश किया कि महिला ने सहमति दी थी.

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com