पढ़े भारत के किस राज्य में बनेगा सबसे ऊंचा रेलवे ट्रैक

दुनिया का सबसे ऊंचा रेल ट्रैक भारत के हिमाचल प्रदेश में बनने जा रहा है. जहा भारतीय रेलवे बिलासपुर-मनाली-लेह को नेटवर्क से जोड़ा जाएगा। नई ब्रॉडगेज लाइन का पहले चरण का फाइनल लोकेशन सर्वे हो गया है. इस सर्वे के तहत नई रेल लाइन पर हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर में 30 स्टेशनों को तय कर लिया गया है. रेलवे ने

अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि रेलवे ने यह सुझाव भी दिया है कि इस लाइन को बनाने में 83,360 करोड़ रुपये का खर्चा आएगा. जब यह रेल लाइन बनकर तैयार हो जाएगी दुनिया के सबसे ऊंचे इलाकों से गुजरने वाली सबसे ऊंची रेल लाइन होगी. इस योजना के पूरे होने पर भारतीय रेलवे चीन शंघाई-तिब्बत रेलवे को पीछे छोड़ देगा. यह रेलवे हिमाचल के मंडी, मनाली, कुल्लू, केलॉन्ग, टंडी, कोकसर, डच, उपसी और कारु को जोड़ेगा. इस ट्रैक की ऊंचाई समुद्र ताल से 3300 मीटर होगी. (प्रतीकात्मक

उत्तर रेलवे के सीएओ कंस्ट्रक्शन आलोक कुमार के मुताबिक, बिलासपुर और लेह-लद्दाख रेल परियोजना जम्मू एंड कश्मीर रेल परियोजना की तुलना में कहीं अधिक चुनौतीपूर्ण है. उनका कहना है कि फाइनल लोकेशन सर्वे का कार्य रक्षा मंत्रालय एवं उत्तर रेलवे द्वारा शाहजहां करार के तहत 457. 72 करोड़ रुपए की लागत से किया जा रहा है.

परियोजना में समुद्र तल से 5360 मीटर ऊपर सर्वाधिक ऊंचा सड़क बिन्दु होगा. इसकी तुलना केवल चीन की किंघाई-तिब्बत रेल लाइन से की जा सकती है जो समुद्र तल से लगभग दो हजार मीटर ऊपर है. लेह से भाजपा सांसद थुपस्तन छेवांग ने सितंबर में रेल मंत्रालय को पत्र लिखकर परियोजना को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने की मांग की थी. रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि फाइनल लोकेशन सर्वे के दूसरे और तीसरे चरण के लिए ग्लोबल टेंडर खुल चुके हैं और जल्द ही यह काम किसी न किसी एजेंसी को दे दिया जाएगा.

 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com