World Women Boxing: मैरीकॉम को स्‍वर्ण पदक की उम्मीद बढ़ी, सेमीफाइनल में किम को हराया

ओलिंपिक की कांस्य पदकधारी और भारत की स्‍टार महिला बॉक्‍सर एमसी मैरीकॉम ने दसवीं एआईबीए महिला विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में कर लिया है. इस जीत के साथ मैरीकॉम ने चैंपियनशिप में स्‍वर्ण या रजत पदक जीतना पक्‍का कर लिया है. गुरुवार को यहां खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय बॉक्‍सर ने  उत्तर कोरिया की हयांग मि किम को पराजित किया. मैरीकॉम ने यह मुकाबला एकतरफा अंदाज में 5-0 के अंतर से जीता. मैरीकॉम ने अपने मुकाबले में शुरुआत से ही आक्रामक रुख अख्तियार किया. उनके मजबूत मुक्कों का कोरियाई बॉक्‍सर के खिलाफ कोई जवाब नहीं था.

मैरीकॉम की शुरुआत भले ही अच्छी नहीं रही, लेकिन रिंग में वो अपने अनुभव के दम पर लड़ीं और जीत दर्ज की। पहला राउंड मैरीकॉम ने जीता, जिसके बाद दूसरे राउंड में किम ह्यांग काफी आक्रामक हो गईं। मैरीकॉम ने सफलतापूर्वक अपने पंच डिफेंड किए और किम ह्यांग को हार के लिए विवश किया।

सुपरमॉम के तौर पर मशहूर एमसी मैरीकॉम 35 साल की हैं. वे विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप के इतिहास में सबसे अधिक छह मेडल जीतने वाली महिला हैं. उनके छह मेडल में पांच गोल्ड मेडल शामिल हैं. वैसे, आयरलैंड की केटी टेलर भी पांच स्वर्ण के साथ छह पदक जीत चुकी हैं. लेकिन अब वे प्रोफेशनल बॉक्सर बन गई हैं. जबकि, मैरीकॉम दिल्ली में आयोजित विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचकर रिकॉर्ड सातवां मेडल अपने नाम कर चुकी हैं. अब बस यह तय होना है कि वे गोल्ड जीतती हैं, या फिर उन्हें सिल्वर से संतोष करना पड़ता है.

मैरीकॉम ने किम ह्यांग को इससे पहले एशियन चैंपियनशिप में हराया था. उन्होंने किम के खिलाफ जीत का सिलसिला कायम रखते हुए गुरुवार का मुकाबला भी अपने नाम कर लिया. मैरीकॉम ने यह मुकाबला 5-0 (29-28, 30-27, 30-27, 30-27, 30-27) से जीता. फाइनल में मैरीकॉम का सामना यूक्रेन की हन्ना ओखोटा से होगा. मैरीकॉम इससे पहले हन्ना को पौलेंड में खेले गए टूर्नामेंट में मात दे चुकी हैं. 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com