येदियुरप्पा सरकार की अग्नि परिक्षा, 28 घंटो में साबित करना होगा पूर्ण बहुमत

आपको बता दे की सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के नाटक का अंत करते हुए कहा कि येदुरप्पा की सरकार को अगले 28 घंटों के भीतर सदन में बहुमत साबित करना होगा। उन्हें कहा गया है कि कल सदन की बैठक आयोजित करने के लिए जो भी आवश्यक कदम हैं, उसे पूरा कीजिए। इसके पहले गवर्नर ने येदियुरप्पा को गुरुवार को शपथ दिलाई थी। गवर्नर ने बहुमत के लिए 15 दिनों का समय दिया था। इसके बावजूद अब भाजपा को शनिवार शाम 4 बजे तक सदन में 8 अन्य विधायकों का समर्थन जुटाकर सदन में अपना बहुमत साबित करना होगा, अन्यथा भाजपा की सरकार गिर जाएगी। इस दौरान कोर्ट ने प्रोटेम स्पीकर नियुक्त करने के भी आदेश दिए, जिसके अंदर बहुमत साबित करने के निर्देश दिए गए। कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले के बाद भाजपा की आफत आ गई है, जहां एक ओर कांग्रेस ने अपने विधायकों को रिजॉर्ट से हैदराबाद शिफ्ट कर दिया है, वहीं जेडीएस ने भी अपने विधायकों पर पहरा बैठाया हुआ है। इसके साथ ही निर्दलीय विधायक भी भाजपा के साथ नजर नहीं आते। ऐसे में भाजपा के लिए अगले 28 घंटे अग्निपरीक्षा के हैं, जिसमें उन्हें अपने लिए बहुमत जुटाना होगा।

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर कांग्रेसी नेता और कांग्रेस-जेडीएस के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि कोर्ट का यह फैसला ऐतिहासिक है। कोर्ट ने इस फैसले से लोकतंत्र की जीत हुई है। इस दौरान उन्होंने कहा कि येदुरप्पा सरकार की ओर से कोर्ट में इस बात का कोई सबूत नहीं दिया गया कि आखिर उन्हें सरकार बनाने के लिए राजभवन से न्योता मिलने का क्या आधार था। ऐसे में अब येदुरप्पा शनिवार शाम तक कोई नीतिगत फैसला नहीं ले सकते। बता दें कि सरकार बनने के साथ ही येदुरप्पा सरकार ने 4 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए थे, जिसको लेकर भी विवाद खड़ा हुआ था।

इतना ही नहीं इस दौरान कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि शनिवार को विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने येदुरप्पा सरकार को अगले 28 घंटे के भीतर अपना बहुमत साबित करने के लिए कहा है। कोर्ट ने प्रोटेम स्पीकर नियुक्त करने के लिए कहा है, जिनके अंतर्गत बहुमत साबित करना होगा। इससे पहले जब येदियुरप्पा ने सीएम पद की शपथ ली थी, तो ऑपरेशन कमल के लिए विपक्षी विधायकों को त्यागपत्र दिलवा दिया था। लेकिन इस बार यह तरीका काम करेगा, कहना मुश्किल है।

इस दौरान कोर्ट ने डीजीपी को सुरक्षा दिए जाने के निर्देश दिए। ऐसा इसलिए कहा गया क्योंकि येदुरप्पा सरकार ने सत्ता में आते ही कई पुलिस अफसरों के तबादले कर दिए थे। इसके साथ ही कुछ अन्य पर गाज गिरी थी। इस सब के चलते कोर्ट ने डीजीपी की सुरक्षा पुख्ता किए जाने के निर्देश दिए हैं। 

लेकिन इस पर उन्होंने बहुमत पास करने की बात भी कही। भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद हम शनिवार शाम तक फ्लोर टेस्ट पास कर लेंगे। वहीं येदुरप्पा ने कहा कि कल होने वाले फ्लोर टेस्ट को हम सदन में साबित कर देंगे। हमारे पास बहुतम है। हालांकि इस दौरान उनके माथे पर चिंता की लकीरें जरूर देखी गई। 

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com