6 मैच में ही जहीर खान को पछाड़ा, ऐसे बनाया खलील अहमद ने बनाया तूफानी रिकॉर्ड

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में जोशीले आगाज से सुर्खियों में हैं. वेस्टइंडीज के खिलाफ संपन्न हुई वनडे सीरीज में टोंक (राजस्थान) के 20 साल के इस गेंदबाज ने अपने प्रदर्शन से खासा प्रभावित किया है.   

वेस्टइंडीज के खिलाफ संपन्न हुई वनडे सीरीज में टोंक (राजस्थान) के 20 साल के इस गेंदबाज ने अपने प्रदर्शन से खासा प्रभावित किया है। खलील अहमद अपने शुरुआती 6 वनडे मैचों में 11 विकेट चटकाकर आरपी सिंह और धवल कुलकर्णी के क्लब में शामिल हो गए हैं। इसके साथ खलील ने भारत के बाएं हाथ के दिग्गज तेज गेंदबाज जहीर खान को पीछे छोड़ दिया है, जिन्होंने शुरुआती 6 वनडे में 10 विकेट झटके थे.

शुरुआती 6 वनडे में भारत की ओर से सर्वाधिक विकेट लेने वाले तेज गेंदबाजों की बात करें, तो खलील आरपी सिंह और धवल कुलकर्णी के साथ संयुक्त रूप से दूसरे नंबर हैं. अजीत अगरकर, प्रवीण कुमार और जसप्रीत बुमराह ने सर्वाधिक 14-14 विकेट निकाले थे.

खलील ने वेस्टइंडीज सीरीज में 4 वनडे खेलकर 7 विकेट चटकाए. जबकि इससे पहले एशिया कप के दो मैचों में उन्होंने हांगकांग के खिलाफ डेब्यू मैच में 3 और इसके बाद अफगानिस्तान के विरुद्ध एक सफलता हासिल की थी

वेस्टइंडीज सीरीज में खलील अहमद के तीसरे तेज गेंदबाज के तौर पर सामने आना सकारात्मक चीज रही. विराट कोहली ने तिरुवनंतपुरम वनडे के बाद सम्मान समारोह में कहा, ‘तीसरे गेंदबाज के तौर पर खलील का शानदार प्रदर्शन करना खास है. खुदा न खास्ता अगर भुवनेश्वर (कुमार) या (जसप्रीत) बुमराह चोटिल हो गए तो खलील का होना अच्छा है जो विकेट ले सकते हैं.'

कोहली की तरह शास्त्री भी खलील के प्रदर्शन से प्रभावित दिखे, लेकिन चाहते हैं कि यह खिलाड़ी खुद को कुछ और मौकों पर साबित करे. उन्होंने कहा, ‘बाएं हाथ का तेज गेंदबाज काफी किफायती हो सकता है. खलील अभी अपरिपक्व हैं. उनके पास अनुभव की कमी है, लेकिन विविधता और आक्रामकता की कमी नहीं है. अगर वह अपनी गति थोड़ी और बढ़ा सकें, तो ज्यादा असरदार होंगे.’

कप्तान विराट कोहली ने तिरुवनंतपुरम वनडे के बाद सम्मान समारोह में कहा, ‘तीसरे गेंदबाज के तौर पर खलील का शानदार प्रदर्शन करना खास है। खुदा न खास्ता अगर भुवनेश्वर (कुमार) या (जसप्रीत) बुमराह चोटिल हो गए तो खलील का होना अच्छा है जो विकेट ले सकते हैं।'

विराट कोहली की तरह हेड कोच रवि शास्त्री भी खलील अहमद के प्रदर्शन से प्रभावित दिखे। उन्होंने कहा, ‘बाएं हाथ का तेज गेंदबाज काफी किफायती हो सकता है। खलील अभी अपरिपक्व हैं। उनके पास अनुभव की कमी है, लेकिन विविधता और आक्रामकता की कमी नहीं है। अगर वह अपनी गति थोड़ी और बढ़ा लें तो ज्यादा असरदार होंगे।’

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com