पटाखा फैक्ट्री में जबरदस्त विस्फोट, महिला के चीथड़े उड़े

हादसे के वक्त फैक्ट्री में मौजूद थे करीब 11 लोग, विस्फोट की जद में आने से बाल-बाल बचे बाकी लोग
 
SHAMLI_BLAST_samachar today

  • रिपोर्टः श्रवण कुमार सैनी, शामली

यूपी। शामली जिले में पटाखा फैक्ट्री में जबरदस्त तरीके से हुए विस्फोट में एक महिला के चीथड़े उड़ गए। विस्फोट के वक्त फैक्ट्री में करीब 11 लोग मौजूद थे। ये तो गनीमत रही कि विस्फोट के दौरान बाकी लोग फैक्ट्री में दूसरी तरफ खाना बना रहे थे, जिस वजह से वो धमाके की जद में आने से बच गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला की लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आगे की कार्रवाई में जुट गई।
जिस पटाखा फैक्ट्री में ये धमाका हुआ है, वो शामली जिले के बाबरी थाना इलाके के गांव बुटराडा में स्थित है। चश्दीदों की माने तो ये विस्फोट इतना जबरदस्त था कि इससे फैक्ट्री की दीवारें तक चटक गई। विस्फोट के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। हादसे में मरने वाली महिला का नाम वीरमति बताया जा रहा है, जिसकी उम्र तकरीबन 40 साल थी। 

कई लोगों के मरने की सूचना हुई थी प्रसारित
पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट की खबर किसी जंगल की आग की तरफ पूरे इलाके में फैल गई। हालांकि प्रथम सूचना ये ही प्रसारित हुई थी कि पटाखा फैक्ट्री में हुई विस्फोट में कई लोगों की मौत हो गई। माना जा रहा है कि इस सूचना के पीछे सबसे बड़ी ये ही वजह रही थी कि फैक्ट्री में काफी सख्ंया में लोग काम करते थे और विस्फोट बहुत ही भीषण था। जिसकी वजह से लोगों ने कई लोगों के मरने की आशंका में ये झूठी खबर प्रसारित कर दी। इतना ही नहीं इसी फर्जी सूचना को आधार मानते हुए कई मीडिया संस्थानों में भी कई मजदूरों की मौत की खबर को प्रसारित कर दिया था। 

SHAMLI_BLAST_1

विस्फोट की वजह नहीं है स्पष्ट
सूचना पर पहुंची पुलिस ने कई एंगल से घटना स्थल का मौका-मुआयना किया। हालांकि प्रथमदृष्टया विस्फोट की वजह साफ नहीं हो सकी है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। 

फूलझड़ी की फैक्ट्री में बनाए जा रहे थे पटाखे!
स्थानीय लोगों का ये भी कहना है कि ये फैक्ट्री फूलझड़ी बनाने की है, लेकिन इसमें अवैध रूप से पटाखों का निर्माण किया जा रहा था। हालांकि इस संबंध में अभी कोई सटीक जानकारी अथवा अधिकारिक तौर पर बयान या तथ्य सामने नहीं आया है।

'विस्फोट का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। इसमें एक महिला की मौत हुई है, जिसकी उम्र 40 साल है। मरने वाली महिला बाबरी की रहने वाली है, जिसके विस्फोट में चिथड़े उड़ गए। फैक्ट्री में हादसे के वक्त करीब 11 लोग मौजूद थे। बाकी लोग दूसरी जगह खाना बना रहे थे, जिस कारण वो इसकी चपेट में आने से बच गए।' -बिजेंद्र सिंह भड़ाना, सीओ, बाबरी

मुजफ्फरनगर में भी हुआ था विस्फोट
हाल ही में मुजफ्फरनगर के मीरापुर कस्बे में भी आतिशबाज़ के घर पर भी इसी तरह से विस्फोट हुआ था, जिसमें आतिशबाज के बेटे की मौत हो गई थी, जबकि वो खुद बुरी तरह से घायल हो गया था, जिसे मेरठ मेडिकल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था।
पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करेंः मुजफ्फरनगर में जबरदस्त विस्फोट, बेटे की दर्दनाक तरीके से मौत और पिता गंभीर घायल
 Watch full video news: