मुजफ्फरनगरः किशोरी से रेप की कोशिश में 4 साल की सजा और 5 हजार का जुर्माना

घर में सो रही किशोरी के साथ युवक ने 2018 में की थी बलात्कार की कोशिश
 
court room

  • रिपोर्टः एम.रहमान (वरिष्ठ पत्रकार, मुजफ्फरनगर)

मुज़फ्फरनगर। अदालत ने घर में सो रही किशोरी को अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश बनाने के एक मामले में युवक को दोषी करार दिया है। अदालत ने युवक को 4 साल की सजा के साथ-साथ उस पर 5 हजार रुपये का अर्थदंड भी लगाया है।

मुजफ्फरनगर की विशेष अदालत पोक्सो के जज संजीव तिवारी की कोर्ट में सुनवाई के दौरान तमाम गवाह और सबूत पेश किए गए। अभियोजन की तरफ से विशेष लोक अभियोजक दिनेश शर्मा और मनमोहन वर्मा ने पैरवी की। तमाम गवाहों और सबूतों के बिनाह पर 23 साल के आरोपी मनोज कुमार को दोषी पाया। अदालत ने मनोज कुमार को 4 साल की सजा समेत 5 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई।

ये था पूरा मामला!

अभियोनज की कहानी के मुताबिक, 5 जून 2018 को थाना भौराकलां के एक गांव में घर के अंदर सो रही 14 साल की किशोरी को गांव के ही मनोज ने अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश की थी। मनोज दीवार फांदकर रात के वक्त किशोर के घर में कूद गया था और किशोरी को दबोच लिया था। शोर-शराबा सुनकर परिजन उठ गए थे। जिसकी वजह से आरोपी अपने नापाक मंसूबों में कामयाब ना हो सका। इस मामले में परिजनों की तरफ से भौराकलां थाने में मुकदमा दर्ज कराते हुए कार्रवाई की मांग की गई थी।

अदालत की ये खबर भी जरूर पढ़ेः मुजफ्फरनगर की अदालत ने बिहारी नौकर का सुनाई 10 साल की सजा