यूपी में 53 लाख की नकली करेंसी के साथ होमगार्ड समेत 6 लोग गिरफ्तार, बाकी की तलाश जारी

आरोपियों के पास से 500 और 200 रुपये के नोट के बंडल बरामद

 
MEERUT

  • रिपोर्टः रिजवान सलमानी

मेरठ। थाना गंगानगर पुलिस और एसओजी की टीम ने एक ऐसे शातिर गिरोह का भंड़ाफोड़ किया जो कि नकली नोटों का धंधा कर रहा था। इस गिरोह ने महानगर के बाजार में असली के नाम पर लाखों रुपये खपा दिए। गिरोह के 6 सदस्यों को एसओजी और थाना गंगा नगर पुलिस ने गिरफ्तार कर 53 लाख रुपये के नकली नोट बरामद किए। छापेमारी के दौरान एसओजी और थाना गंगानगर पुलिस को पकड़े गए आरोपियों के पास से 500 रुपये के बंडल और 200 रुपये के नोट के बंडल बरामद किए हैं।

MEERUT

एसपी क्राइम अनित कुमार ने बताया कि आरोपियों से हुई पूछताछ में पता चला कि ये लोग शादी ब्याह में पहनी जाने वाली नए नोट की माला खरीदते थे और उसमें से नोटों को निकाल लेते थे। इसके बाद इन्हीं नए नोटों के दम पर लोगों से ठगी करते थे। पकड़े गए सभी लोग बहुत शातिर किस्म के ठग हैं। ये लोग नोट के बंडल में उसी आकार के कागज बीच में लगा देते थे और ऊपर नीचे असली नोट रखकर लोगों से ठगी करते थे। ठगी के लिए ये लोग गांव देहात और कस्बों में घूमते थे और वहां पर अपना शिकार तलाशा करते थे।

एसपी क्राइम ने बताया कि बदमाशों का ये गिरोह अब तक भावनपुर, गंगानगर, कंकरखेड़ा और किठौर इलाके में ठगी की लगभग 20 वारदातों को अंजाम दे चुका है। पुलिस ने गिरोह के मास्टरमाइंड मोहसीन और मेहताब समेत नाजिम, अरशद, सत्येंद्र शर्मा और उसके भाई कृष्ण को गिरफ्तार किया हैं। इनके बाकी साथियों की तलाश की जा रही है। वहीं ये भी पता किया जा रहा है कि इन्होंने बाजार में कितने नकली नोट चलाए हैं। पकड़े गए लोगों से ये भी पता किया जा रहा है कि ये नोटों की मालाएं कहां से खरीदते थे।