76 लाख की एम्फेटेमिन के साथ अफ्रीकन ड्रग पेडलर गिरफ्तार

मेडिकल वीजा पर आया था इंडिया, करने लगा नशे का कारोबार

 
ARRESTED

  • रिपोर्टः अभिषेक नयन

दिल्ली। द्वारका जिले की सेल अगेंस्ट इल्लीगल फॉरेनर एंड नारकोटिक्स (CAIFAN) की टीम ने नशे के कारोबार में लिप्त एक अफ्रीकन ड्रग पेडलर को गिरफ्तार किया है। इसकी पहचान Chigozie Eboh Ijele King के रूप में हुई है। ये नाइजीरिया का रहने वाला है।

डीसीपी शंकर चौधरी ने इस गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए बताया, की जिले में ड्रग्स सिंडिकेट और इसकी सप्लायरों की पकड़ के लिए CAIFAN की टीम लगातार जानकारियों को विकसित कर इनकी पकड़ के लिए लगी रहती है और सूत्रों को सक्रिय कर संदिग्धों पर नजरें बनाए रखती है।

इसी क्रम में कैफन की टीम को सूत्रों से, द्वारका इलाके में नारकोटिक्स पदार्थ की बिक्री में लिप्त एक अफ्रीकन के बारे में जानकारी मिली। 14 अप्रैल को सूत्रों से पुलिस को एक अफ्रीकन ड्रग पेडलर के नारकोटिक्स पदार्थ के साथ सेक्टर 14 के मेट्रो पिलर नम्बर 902 के पास आने की सूचना मिली।

पुलिस टीम ने सूचना के आधार पर एसीपी आपरेशन विजय सिंह यादव की देखरेख में एसआई सुभाष चंद के नेतृत्व में एएसआई करतार सिंह, हेड कॉन्स्टेबल मोबिन, कॉन्स्टेबल रवि, प्रवीण और महिला कॉन्स्टेबल सोनू की टीम का गठन कर सेक्टर 14 के मेट्रो पिलर नम्बर 902 के पास ट्रैप लगाया। जहां उन्होंने सेक्टर 14 मेट्रो स्टेशन की तरफ से स्कूटी से वहां पहुंचे अफ्रीकन को मेट्रो दबोच लिया।

पुलिस ने इस मामले में एनडीपीएस एक्ट के तय प्रक्रिया के अनुसार एसीपी द्वारका, मदन लाल मीणा के सामने उसकी तलाशी में, सफेद पॉलिथीन में उसके पास से 76 ग्राम सफेद पदार्थ, बरामद किया। जिसके एम्फेटामिन होने की पुष्टि की गई। इंटरनेशन मार्केट के इसकी कीमत 76 लाख रुपये बताई जा रही है। जिसे उससे बरामद स्कूटी और मोबाइल सहित पुलिस ने जब्त कर उसे हिरासत में ले लिया।

पूछताछ में उसने बताया कि वो, साल 2014 में 3 महीने के मेडिकल वीजा पर इंडिया आया था और मुम्बई में वो किराए पर रहता था। पिछले साल वो दिल्ली शिफ्ट हो गया। उसने बताया कि वो उत्तम नगर में रह रहे एक अफ्रीकन जेम्स से एम्फेटामिन ड्रग्स की खेप लेता है, और उसे उसके ठिकानों के बारे में भी जानकारी है। इस मामले में पुलिस ने द्वारका नॉर्थ थाने में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस आगे की जांच में जुट कर इससे पूछताछ कर ड्रग्स के सप्लाई के सोर्स की पकड़ और सिंडिकेट के खुलासे में लग गयी है। गौरतलब है कि पिछले 10 दिनों में 3 अफ्रीकानों को ड्रग्स की कॉमर्शियल क्वांटिटी के साथ पकड़ा गया है।