मुजफ्फरनगर में किशोरी से छेड़छाड़ करने वाले को अदालत ने सुनाई 4 साल की सजा, 10,500 का जुर्माना भी ठोका

सोते समय किशोरी से आरोपी ने की थी छेड़छाड़

 
मुजफ्फरनगर सजा

  • रिपोर्टः गोपी सैनी

मुजफ्फरनगर। विशेष अदालत पोक्सो के जज़ बाबूराम की कोर्ट ने किशोरी से छेड़छाड़ करने के आरोपी युवक को दोषी ठहराया है। कोर्ट ने दोषी को 4 साल कैद की सजा सुनाई है। साथ ही 10 हजार 500 रुपये का जुर्माना भी लगाया है। 4 वर्ष पूर्व रात के समय हुई इस घटना के तहत आरोपी ने छत पर सो रही किशोरी से छेड़छाड़ करते हुए विरोध करने पर उसके भाई को छत से नीचे धक्का दे दिया था।

विशेष लोक अभियोजक दिनेश कुमार शर्मा ने बताया कि जानसठ थाना इलाके के एक गांव में चार वर्ष पूर्व रात के समय एक किशोरी से छेड़छाड़ की गई थी। उन्होंने बताया कि इस मामले में पीड़ित के पिता ने मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया था कि 6 जुलाई 2018 को उसकी 15 वर्षीय बेटी अपने घर की छत पर सो रही थी। उसकी बगल में उसके दो भाई भी सो रहे थे। आरोप था कि पड़ोस में रहने वाला आसिफ रात के 3 बजे आया और उसकी नाबालिग बेटी के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। उसकी बेटी ने इसका विरोध किया। आहट पाकर उसके बेटे भी जाग गए। उन्होंन विरोध किया तो आरोपी ने उनमें से एक को जान से मारने की नीयत से छत से धक्का दे दिया था।

विशेष लोक अभियोजक दिनेश कुमार शर्मा ने बताया कि मुकदमे की सुनवाई विशेष पोक्सो कोर्ट के जज बाबूराम ने की। अभियोजन ने घटना साबित करने के लिए कोर्ट में 6 गवाह पेश किए। विशेष पोक्सो कोर्ट के जज अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश बाबूराम ने दोनों पक्षों की सुनवाई करते हुए आरोपी आसिफ को दोषी ठहराया। कोर्ट ने आसिफ को 4 वर्ष कैद की सजा सुनाई। साथ ही 10,500 रुपये का जुर्माना भी किया।