मुजफ्फरनगर में होली पर हुए झगड़े में दर्ज होगा क्रास केस, कोर्ट ने दिए आदेश

रामलीला टिल्ला निवासी महिला की शिकायत पर कोर्ट ने की सुनवाई

 
COURT

मुजफ्फरनगर। शहर कोतवाली इलाके के रामलीला टिल्ला के समीप होली पर्व पर पड़ौसियों के बीच हुए झगड़े के मामले में क्रास केस दर्ज करने के आदेश हुए हैं। मारपीट के मामले में जेल गए एक महिला ने पीड़ित पक्ष पर ज्यादती का आरोप लगाते हुए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। महिला का आरोप था कि कुछ लोगो ने उसके घर में घुसकर छेड़छाड़ की और मारपीट करते हुए उनके घर का समान और नगदी आदि लूट ली। विशेष एससी एसटी निवारण कोर्ट ने सुनवाई करते हुए इस मामले में पुलिस को एफआइआर दर्ज करने के आदेश दिए।

दरअसल शहर कोतवाली इलाके के रामलीला टिल्ला के समीप पुरानी रंजिश को लेकर होली के दिन सायं के समय अतुल शर्मा और सौरभ के बीच झगड़ा हो गया था। झगड़े में अतुल समेत उसके पक्ष के सतीश को गंभीर चोट आई थी। जिसके बाद सतीश की तहरीर पर पुलिस ने विपक्षी सौरभ आदि पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने 2 लोगों को अरेस्ट कर लिया था। जबकि आरोपित सौरभ कोर्ट में पेश होकर जेल चला गया था।

सतीश शर्मा की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर सौरभ आदि को जेल भेज दिया था। इस मामले में सौरभ की पत्नी ने विशेष एससी एसटी कोर्ट में अर्जी लगाते हुए आरोप लगाया था कि पुलिस ने उनकी एफआईआर दर्ज नहीं की। सौरभ की पत्नी का आरोप था कि 18 मार्च को अतुल शर्मा, बंटी, अरविंद, कार्तिक, रामपाल, सतीश, हिमांशु, निकाल, मोहित और नरेन्द्र एवं अमित मेरठिया ने उनके घर में घुसकर मारपीट की थी। जिसके बाद उससे छेड़छाड़ की और जाते समय घर से हजारों की नगदी समेत लाखों रुपये की रील बनाने की मशीन लूटकर ले गए।

सौरभ की पत्नी की और से प्रस्तुत किए गए प्रार्थना पत्र पर सुनवाई करते हुए विशेष एससी एसटी कोर्ट के जज जमशेद अली ने शहर कोतवाली पुलिस को आदेश दिया कि इस मामले में सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच की जाए।