IGI एयरपोर्ट पुलिस ने किया इंटरनेशनल फर्जी वीजा रैकेट का खुलासा, मास्टरमाइंड समेत 4 गिरफ्तार

2000 ब्लैंक वीजा, 165 फर्जी वीजा स्टांप और फर्जी वीजा बनाने वाली डाई बरामद

 
दिल्ली

  • रिपोर्टः अभिषेक नयन

दिल्ली। इंदिरा गांधी एयरपोर्ट की पुलिस टीम ने इंटरनेशनल फर्जी वीजा रैकेट के खिलाफ चलाए गए अभियान में एक और बड़ी कार्रवाई की है। फर्जी वीजा के मामले में एक और मास्टरमाइंड समेत 4 को गिरफ्तार किया है। जो कई देशों के फर्जी वीजा और दूसरे डॉक्यूमेंट तैयार करता था। उसके आधार पर दिल्ली और पंजाब में फर्जीवाड़े का गोरखधंधा चल रहा था।

डीसीपी एयरपोर्ट तनु शर्मा ने इस बड़े मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि इस मामले में आईजीआई एयरपोर्ट थाने में मामला दर्ज किया गया है। मास्टरमाइंड के पास से 12 इंडियन पासपोर्ट, 7 नेपाली पासपोर्ट, 35 पीआर अलग-अलग कंट्रीज के, 26 वीजा अलग अलग कंट्री के, ब्लैंक इंडियन पासपोर्ट के अलावा 2000 से ज्यादा ब्लैंक वीजा अलग-अलग देशों के साथ 165 से ज्यादा फर्जी वीजा स्टांप और 127 फर्जी वीजा बनाने वाली डाई बरामद किया गया है। इसके साथ-साथ वीजा पर लगाने वाले होलोग्राम जो अलग-अलग देश के हैं, उसे भी बरामद किया गया है। साथ ही 8 हाई क्वालिटी का प्रोफेशनल प्रिंटिंग और लैमिनेटिंग मशीन, सील मेकिंग मशीन जो पासपोर्ट टेंपरिंग के काम में यूज आते हैं वह भी बरामद किए गए हैं।।

आईजीआई की पुलिस टीम ने फिलहाल मास्टरमाइंड नितिन समेत चार को गिरफ्तार किया गया है। इनसे अभी लंबी पूछताछ की जा रही है। ये सभी दिल्ली के टैगोर गार्डन और मालवीय नगर इलाके के रहने वाले हैं। पुलिस टीम पूछताछ के बाद और खुलासा कर सकती है।