किशोर न्याय बोर्ड ने किशोर को सुनाई अनोखी सजा

15 दिन गौशाला और 15 दिन गांव के सार्वजनिक स्थल पर करनी होगी सफाई

 
KISHOR KO SUNAEE SAJA

  • रिपोर्टः आसिम अली

बदायूं। यूपी के मुख्यमंत्री पर अभद्र टिप्पणी करने वाले एक किशोर को अनोखी सजा सुनाई गई है। न्याय बोर्ड द्वारा सजा के तहत आरोपी किशोर को 15 दिन गौशाला में और 15 दिन गांव के सार्वजनिक स्थल पर सफाई करनी होगी। इस सजा की चर्चा पूरे इलाके में है।

दरअसल... ये पूरा मामला जिले के देहगवा ब्लॉक का है, जहां एक गांव के रहने वाले किशोर ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर एक अभद्र टिप्पणी की थी, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी। जिसके बाद किशोर पर मुकदमा दर्ज हो गया। जिस पर किशोर न्याय बोर्ड में मामला चला, किशोर न्याय बोर्ड ने आरोपी किशोर को अनोखी सजा सुनाई जिसकी चर्चा चारों तरफ है। किशोर के पिता ने बताया कि उनके बेटे का मोबाइल किसी दूसरी जगह पर चार्जिंग पर लगा था। जहां से किसी ने वो मैसेज वायरल कर दिया जिसकी उसे सजा मिली। उनका बच्चा अब रोज गायों की सेवा करता है और गौशाला की साफ सफाई करता है, उन्होंने अन्य बच्चों को एक मैसेज भी दिया कि कोई भी ऐसा कार्य नहीं करें।

वहीं  पूरे मामले पर किशोर के वकील जवाहर सिंह यादव का कहना है कि कोर्ट का निर्णय बहुत ही अद्भुत है, जिससे बच्चे के अंदर सेवा भाव पैदा होगा उसे सुधारने को पर्याप्त अवसर दिया गया है। वकील का कहना है कि बच्चे द्वारा मोबाइल पर कोई अभद्र पोस्ट डाली गई थी जिसकी वजह से उसे ये सजा सुनाई गई। लेकिन कोर्ट ने उसके बारे में जो फैसला सुनाया है वो काफी सराहनीय है।