मुजफ्फरनगरः गैंगस्टर कोर्ट ने एक अपहरणकर्ता को सुनाई 4 साल की कारावास, दूसरे के खिलाफ NBW जारी

16 साल पूर्व किया था 6 वर्षीय बच्चे का अपहरण

 
mzn court

  • रिपोर्टः एम रहमान, वरिष्ठ पत्रकार (मुजफ्फरनगर)

मुजफ्फरनगर। शामली में करीब 16 साल पूर्व हुए 6 वर्षीय बच्चे के अपहरण के मामले में बुधवार को मुजफ्फरनगर की गैंगस्टर कोर्ट ने एक आरोपी को दोषी ठहराया है। अदालत ने दोषी को 4 साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई है। जबकि दूसरे आरोपी के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए है।

दरअसल मामला शामली के थाना आदर्श मंडी के गांव मुंडेट कलां का है। जहां निवासी वादी जसमेर ने 22 अगस्त 2006 को तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया था कि उसके 6 वर्षीय बेटे राहुल का जमीन कब्जाने की नियत से गांव क़े ही राम कुमार और सुक्खा ने अपहरण कर लिया। पुलिस अपहरण की धारा क़े अलावा एससी/एसटी की धारा मे भी मुकदमा दर्ज किया। घटना क़े दो दिन बाद ही तत्कालीन थानाध्यक्ष विनोद कुमार ने अपहरणकर्ताओं क़े चंगुल से बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया था और अपहरताओं को रामकुमार और सुक्खा क़े खिलाफ गेंगेस्टर एक्ट मे चालान कर जेल भेज दिया था।

अभियोजन की तरफ से मामले में गैंगेस्टर कोर्ट में सभी आवश्यक गवाह पेश किए गए। मामले की सुनवाई के बाद गैंगेस्टर जज कमलापति ने रामकुमार को 4 साल क़े कठोर कारावास और दस हजार रुपये को जुर्माने से दंडित किया। जुर्माना न देने पर एक माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। आरोपी जमानत पर बाहर था कोर्ट ने कस्टडी मे लेकर जेल भेजनें का आदेश दिया। जबकि सजा क़े समय दूसरे आरोपी सुक्खा क़े अनुपस्थित रहने पर उसके एनबीडब्लू वारंट जारी कर दिये।

बता दें कि दोनों को अपहरण क़े मामले मे पूर्व मे तीन साल की सजा हों चुकी थी। जिसमें दोनों जमानत पर बाहर थे। मामले की पैरवी अभियोजन अधिकारी संदीप सिंह, दिनेश पुंडीर और राजेश शर्मा विशेष लोक अभियोजक ने की।