एनकाउंटरः पुलिस ने 2 पशु तस्करों को किया लंगड़ा

मुठभेड़ के दौरान 3 पशु तस्कर हुए फरार

 
encounter

  • रिपोर्टः अमित शर्मा (जानसठ)

मुजफ्फरनगर। पशु तस्करों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी है। इसी दौरान कोतवाली जानसठ पुलिस और पशु तस्करों के बीच हुई मुठभेड़ हो गई। इस दौरान 2 पशु तस्कर घायल हो गए। मुठभेड के बाद पुलिस ने दोनों घायल पशु तस्करों को गिरफ्तार कर लिया. जबकि तीन पशु तस्कर मौके से फरार होने में कामयाब हो गए। गिरफ्तार किए गए तस्करों से एक पिकअप गाड़ी, दो तमंचे और 6 कारतूस बरामद किए। साथ ही एक बड़ा रस्सा और एक भैंस भी पुलिस को बरामद हुई हैं।  

दरअसल जानसठ कोतवाली इलाकें में पिछले काफी समय से आए दिन पशुओं की चोरियां हो रही थी, जिसको लेकर लोगो मे असंतोष व्याप्त था और मीडिया द्वारा इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया जा रहा था. जिसका संज्ञान लेते हुए एसएसपी अभिषेक यादव द्वारा सीओ जानसठ को निर्देशित किया गया था। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और इंस्पेक्टर बबलू सिंह वर्मा के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। 20 अप्रैल की सुबह करीब 4 बजे मीरापुर दलपत के निकट पुलिस चेकिंग अभियान चला रही थी तभी पुलिस को एक पिकअप गाड़ी आती दिखाई दी। पुलिस दल ने पिकअप को रोकने का इशारा किया लेकिन गाड़ी में सवार पशु चोरों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी, जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी फायरिंग की। पुलिस की गोली से दो पशु चोर घायल हो गए जबकि तीन अन्य पशु चोर अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब रहे।

पुलिस क्षेत्राधिकारी शकील अहमद ने बताया कि गिरफ्तार बदमाश कुख्यात पशु तस्कर रहे हैं और विभिन्न स्थानों पर उन पर 10 से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। गिरफ्तार पशु चोरों की पहचान वसीम उर्फ सद्दाम निवासी ग्राम पचपेड़ा थाना भावनपुर मेरठ और आबिद निवासी ग्राम निढोरी थाना मसूरी गाजियाबाद के रूप में हुई हैं। गिरफ्तार बदमाशों का अपराधिक इतिहास बताया जाता है और विभिन्न थानों में कई मुकदमे दोनों अपराधियों पर दर्ज हैं।

बता दें कि पिछले काफी समय से क्षेत्र में पशु चोरों का आतंक मचा हुआ था। कई ग्रामीणों के घरों से लाखों रुपये कीमत के पशु चुरा ले गए थे। जिसको लेकर ग्रामीणों में काफी रोष था। वहीं भारतीय किसान यूनियन के ब्लॉक अध्यक्ष चौधरी जोगेंद्र सिंह ने पशु चोरों की गिरफ्तारी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दी हुई थी।

बदमाशों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक बबलू सिंह वर्मा, उप निरीक्षक अमरपाल शर्मा, उप निरीक्षक सुरेंद्र सिंह, उप निरीक्षक जितेंद्र सिंह के साथ कांस्टेबल दीपक कुमार, जितेंद्र कुमार, खेमराज, मनीष तोमर, राहुल चौधरी, सुधीर कुमार और पंकज कुमार शामिल रहे।