क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने 3 फैक्ट्रियों पर लगाया 20 लाख का जुर्माना, जाने क्या है वजह

जुर्माना जमा करने के साथ अन्य मानक पूर्ण करने के बाद ही होगा संचालन

 
जुर्माना

मुजफ्फरनगर। बढ़ते प्रदूषण पर नियंत्रण पाने के लिए क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने तीन औद्योगिक इकाईयों पर कार्रवाई की है। प्रदूषण फैलाने के कारण तीनों फैक्ट्रियों पर 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। जुर्माने की धनराशि जमा करने और जरूरी नियमों को पूर्ण करने के बाद ही बंद कराई गई फैक्ट्रियों का संचालन शुरू करने के निर्देश जारी किए गए है।

दरअसल पिछले कुछ दिनों से जनपद की आबोहवा जहरीली हो रही है। एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 से पार यानी अधिक खराब श्रेणी में जाने के कारण स्थिति नियंत्रण के बाहर हो रही थी। इस कड़ी में क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों ने लोहा उद्योग और पेपर मिलों का निरीक्षण किया। निरीक्षण में सूजडू औद्योगिक इलाके में चल रही शुभ रोलिंग मिल का संचालन प्रदूषण के नियमों के विपरित मिला। जिसके कारण रोलिंग मिल का संचालन बंद किया गया। वहीं इंगट बनाने वाली त्रिमूर्ति इंटरप्राइजेस पर भी प्रदूषण फैलाने पर कार्रवाई की गई। इसके अलावा क्षेत्र में चल रही टायर-रबड जलाकर तेल निकालने वाली फैक्ट्री पर भी कार्रवाई करते हुए संचालन बंद कर दिया गया।

क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने तीनों इकाईयों पर प्रदूषण फैलाने की वजह से क्षतिपूर्ति शुल्क निर्धारित कर जुर्माना तय किया है। जिसमें तीनों पर बीस लाख का जुर्माना लगा। इसमें शुभ रोलिंग मिल पर 6,87,500 लाख रुपये। त्रिमृर्ति इंजीनियरिंग पर 6,87,500 रुपये और लक्ष्मी इंटरप्राइजेस पर भी 6,25,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया। इन तीनों इकाइयों को क्षतिपूर्ति धनराशि जमा करने समेत मानक पूर्ण करने पर ही संचालन को हरी झंडी के निर्देश दिए।