साउथ से गांजा लाकर दिल्ली-एनसीआर में हो रही थी तस्करी, 5 तस्कर गिरफ्तार

तस्करी के लिए कुछ ही देर पहले होता था सदस्यों का नाम फाइनल

 
गाजियाबाद

गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में दक्षिण भारत के विजयवाड़ा से दिल्ली-एनसीआर और मेरठ तक गाड़ी से गांजे की तस्करी करने जा रहे 5 तस्करों को टीला मोड़ पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जिनके पास से 15 लाख कीमत का गांजा बरामद हुआ है। गिरोह का सरगना नसीम उर्फ चांदी निवासी फर्रूखनगर भी दबोचा गया है। पुलिस को सभी से पूछताछ में जनपद के अंदर एजेंटों का पता चला है। अलग-अलग टीमें उनकी तलाश कर रही है।

पुलिस अधीक्षक द्वितीय ज्ञानेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि गांजा तस्करी का मास्टरमाइंड नसीम उर्फ चांदी तस्करी के लिए अलग-अलग गाड़ियों का इस्तेमाल करता था. और अलग-अलग जगह पर तस्करी के लिए सदस्यों का कुछ ही देर पहले नाम फाइनल करता था। गिरोह हैदराबाद के विजयवाड़ा से गांजा लेकर चला था। उसने पहले हैदराबाद में ही तस्करी की फिर 15 लाख कीमत के गांजे के साथ दिल्ली-एनसीआर और मेरठ की तरफ चला आया। यहां उसने फर्रूखनगर के एक एजेंट से मुलाकात की। उसी ने मेरठ में तस्करी की जगह तय की थी। पांचों तस्कर अपने साथ अलग-अलग फोन लेकर चलते थे। तस्करी के दौरान यदि पुलिस की दबिश की भनक लगती थी तो सभी एक दूसरे को फोन से सूचित कर देते थे लेकिन इस बार पुलिस ने पांचों को एक साथ दबोच लिया।

टीला मोड़ थाने की टीम ने नसीम के अलावा फरमान निवासी लोहिया नगर मेरठ, अफजाल निवासी बनौली बागपत, मेहताब निवासी विजयनगर सब्जी मंडी, मोंटी निवासी थाना इंचौली मेरठ को गिरफ्तार किया है। टीला मोड़ थाना प्रभारी भुवनेश्वर सिंह ने बताया कि तस्करी के खेल में बुलंदशहर के एक व्यापारी की गाड़ी का इस्तेमाल भी होता था। इसके अलावा तस्कर अन्य गाड़ियों पर नंबर प्लेट बदलकर तस्करी करते थे।