मुजफ्फरनगर में 200परिषदीय विद्यालयों के भवन किए जाएंगे ध्वस्त

नई बिल्डिंग बनने तक छात्र-छात्राओं के लिए होगी वैकल्पिक व्यवस्था

 
मुजफ्फरनगर परिषदीय विद्यालय

मुजफ्फरनगर। जिले के 200 परिषदीय स्कूलों में जर्जर हालत में खड़ी इमारतों को ध्वस्त करने का कार्य शुरू हो चुका है। सात सितंबर तक इन सबको ध्वस्त कर दिया जाएगा। इन स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों को लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।

बीएसए शुभम शुक्ला ने बताया कि जिले के स्कूलों में तीन वर्षों से ऐसी इमारतें खड़ी हुई थी जो जर्जर हालत में हैं। इनमें अधिकत में बच्चे नहीं पढ़ते हैं। 200 जर्जर भवनों के ध्वस्तीकरण के आदेश दिए गए हैंइनमें केवल छह बिल्डिंग ऐसी हैं, जिनमें बच्चे पढ़ाई कर रहे थे। इन बच्चों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि सात सितंबर तक सभी बिल्डिंग ध्वस्त हो जाएगी। इनमें 31 परिषदीय स्कूल बघरा ब्लाक के हैं। 31 परिषदीय स्कूल बुढ़ाना ब्लाक के 19 चरथावल ब्लाक के हैं। 20 जर्जर बिल्डिंग जानसठ ब्लॉक के परिषदीय स्कूलों की, 36 परिषदीय स्कूल खतौली ब्लाक के, पांच विद्यालय मुजफ्फरनगर शहरी क्षेत्र के, 17 विद्यालय पुरकाजी ब्लॉक के, 15 सदर ब्लाक के, 19 शाहपुर ब्लाक के हैं।

बीएसए शुभम शुक्ला ने बताया कि शासन को अलग-अलग 140 स्कूलों की इमारतें बनाने का प्रस्ताव भेजा गया है। 6 प्राथमिक विद्यालयों की बिल्डिंग बनाए जाने के प्रस्ताव को स्वीकृति मिली है। शासन ने इसके लिए एक करोड़ 16 लाख की धनराशि जारी की है।


देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें पाने के लिए अब आप समाचार टुडे के Facebook पेज Youtube और Twitter पेज से जुड़ें और फॉलो करें। इसके साथ ही आप SamacharToday को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है।