दिल्लीः पुलिस ने गिरफ्तार किए करोड़ों की ठगी करने वाले 3 आरोपी

जमीन रखकर बैंक से लिया था 15 करोड़ का लोन

 
फाइल फोटो
  • रिपोर्टः अभिषेक नयन

दिल्ली।राजधानी दिल्ली की आर्थिक अपराध शाखा पुलिस ने सिंडिकेट बैंक के पास गिरवी रखे प्रॉपर्टी को बेच कर 10 करोड़ से ज्यादा की ठगी के मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिनकी पहचान मनोज द्विवेदी, ऋषि अरोड़ा और उमेश आज़ाद के रूप में हुई है। पकड़े गए ये सभी आरोपी उत्तर प्रेदेश के लखनऊ के रहने वाले हैं।

ये भी पढ़े दिल्लीः पुलिस के हत्थे चढ़े 2 शातिर मोबाइल स्नैचर, कार्रवाई में जुटी पुलिस

दरअसल... मैसर्स वीकेआर कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड और मैसर्स वंदना फार्म्स एंड रिसार्ट के निदेशक विनोद कुमार राजपाल ने वर्ष 2018 में मैसर्स श्री कालोनाइजर्स एंड डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ अलग-अलग दो शिकायतें दी थीं। शिकायत में कहा गया था कि कंपनी के निदेशकों ने सुशांत गोल्फ सिटी, सुल्तानपुर रोड, लखनऊ, यूपी में आवासीय और होटल की संपत्ति अवैध तरीके से उन्हें 10 करोड़ रुपये में बेच दी उस प्रापर्टी को बैंक के पास गिरवी रख आरोपित पहले ही उस पर 15 करोड़ रुपये का लोन ले चुके थे। एसीपी कपिल पराशर की देखरेख में एसआइ विक्रम सिंह, सिपाही तेजपाल और विकास काजला की टीम ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया।