डीआईजी अखिलेश कुमार निगम ने कोरोना योद्धाओं का कुछ यूं किया सम्मान

डीआईजी ने कर्मचारी सम्मेलन एवं कोरोना योद्धा सम्मान समारोह का आयोजन
 
DIG_AKHILESH KR NIGAM_CORONA YODHYA
  • अमित सैनी, प्रधान संपादक
लखनऊ। पुलिस उपमहानिरीक्षक (सहकारिता) अखिलेश निगम द्वारा पुलिस मुख्यालय स्थित अपने ऑफिस में मंगलवार को कर्मचारी सम्मेलन एवं कोरोना योद्वा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। सम्मेलन में सहकारिता प्रकोष्ठ के क्षेत्रीय कार्यालयों के क्षेत्राधिकारी/सेक्टर प्रभारी एवं कर्मचारियों ने प्रतिभाग किया। पुलिस उपमहानिरीक्षक द्वारा मुख्यालय एवं क्षेत्रीय कार्यालयों के कार्यो की समीक्षा की गई एवं क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा लाए गए अभिलेखों का अवलोकन किया गया। साथ ही साथ वीडियों कान्फ्रेन्सिंग के जरिए दूरस्थ क्षेत्रीय कार्यालयों में उपस्थित कर्मचारियों से कार्यालय के कार्यो का फीडबैक भी लिया गया एवं औसत से कम कार्य करने वाले क्षेत्रीय कार्यालयों को उचित दिशा-निर्देश भी दिए गए। लंबित विवेचनाओं के त्वरित निस्तारण एवं विवेचनात्मक कार्रवाई में गुणवत्तापरक सुधार हेतु भी पुलिस उपमहानिरीक्षक, सहकारिता द्वारा निरीक्षकों को अमूल्य मार्गदर्शन प्रदान किया गया। साथ ही गोष्ठी में कर्मचारी समस्या रजिस्टर का अवलोकन भी किया गया एवं पूर्व में अंकित कर्मचारियों की समस्याओं की अद्यतन स्थिति की जानकारी भी ली गई। गोष्ठी में उपस्थित अधिकारियों/कर्मचारियों से राजकीय कार्यो में आ रही परेशानियों एवं व्यक्तिगत समस्याओं के बारे में भी विचार-विर्मश किया गया एवं कर्मचारियों की व्यक्तिगत समस्याओं के त्वरित निस्तारण हेतु संबंधित को आदेशित किया गया।

DIG_AKHILESH KR NIGAM

पुस्तकालय की स्थापना का प्रस्ताव
इसके अतिरिक्त पुलिस उपमहानिरीक्षक, सहकारिता प्रकोष्ठ अखिलेश निगम द्वारा सहकारिता प्रकोष्ठ में एक पुस्तकालय की स्थापना का प्रस्ताव भी रखा गया एवं गोष्ठी में उपस्थिति सभी अधिकारियों/कर्मचारियों से पुस्तकालय की स्थापना एवं पुस्तकालय में रखी जाने वाली ऐसी पुस्तकें जो विधि, पुलिस मैनुअल्स, कार्यालय कार्य प्रणाली, मनोरंजन एवं अन्य विषयों से संबंधित हो, के संबंध में सुझाव प्रस्तुत करने हेतु कहा गया। 
पुलिस एवं जनता के बीच बढ़ती संवादहीनता पर दिया बल
डीआईजी अखिलेश कुमार निगम द्वारा गोष्ठी को संबोधित करते हुए मित्र पुलिस की विचारधारा को समाज के प्रत्येक वर्ग तक ले जाने की बात कही। उनके द्वारा अपने वक्तव्य में वर्तमान परिवेश में पुलिस एवं आम जनता के बीच बढ़ती हुई संवादहीनता पर विशेष बल देते हुए कहा गया कि मित्र पुलिस आम जनता एवं पुलिस के बीच एक कड़ी का कार्य करते है। जो पुलिस एवं आमजनता के बीच संवादहीनता की खाई को पाटने का कार्य करते हैं। समाज में कानून-व्यवस्था एवं शांति कायम करने हेतु मित्र पुलिस के सहयोग की आवश्यकता हैं। मित्र पुलिस समाज के प्रत्येक वर्ग से हो सकते हैं। मित्र पुलिस अवधारणा को समाज के प्रत्येक वर्ग तक ले जाना चाहिए ताकि एक अपराधमुक्त, शांतिपूर्ण, स्वस्थ समाज की परिकल्पना को साकार किया जा सके। उनके द्वारा ये भी कहा गया कि यदि समाज का कोई भी व्यक्ति जो किसी भी क्षेत्र में देश एवं समाज के हित में कोई कार्य करता है तो उसका उत्साहवर्धन किया जाना चाहिए। 

DIG_AKHILESH KR NIGAM

कोरोना योद्धाओं को किया सम्मानित
इसी कड़ी में डीआईजी अखिलेश कुमार निगम द्वारा कोरोना महामारी के दौरान फ्रंटवारियर्स के रूप में कार्य करते हुए कई अनेक सफल कैंप आयोजित कर आम जनमानस को कोराना के टीके लगवाने हेतु प्रेरणा देने वाले एवं कोविड से सुरक्षा हेतु व्यापक जनजागरण करने वाले डॉ सत्येंद्र कुमार सिंह, प्रभारी चिकित्साधिकारी एमसीएच चिनहट, लखनऊ, जितेद्र यादव, धीरेन्द्र शर्मा, अनुपम और सोनाली यादव को पुलिस मित्र की संज्ञा प्रदान करते हुए ’कोरोना योद्धा सम्मान’ एवं प्रशंसा चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया एवं सहकारिता विभाग में सराहनीय कार्यो हेतु मुकेश कुमार मिश्रा, मुख्य आरक्षी को प्रशस्ति पत्र एवं नगद पुरस्कार से पुरस्कृत कर उत्साहवर्धन किया गया।कार्यक्रम में ये अधिकारी रहे मौजूद
इस अवसर पर पुलिस उपाधीक्षक समीक्षा यादव, अभियोजन संवर्ग के सुरेंद्र राम, हैदर अली, सुनील गुप्ता, अशोक कुमार शुक्ला एवं विभिन्न सेक्टर प्रभारी उपस्थित रहे।