मुजफ्फरनगर पुलिस अलर्ट, शहर का किया निरीक्षण

लोगों से की ईद को शांतिपूर्वक मनाने की अपील

 
nireekshan

रिपोर्टः गोपी सैनी

मुजफ्फरनगर। ईद उल फितर को शांतिपूर्वक मनाने एवं मस्जिदों और ईद गाह के भीतर ही ईद उल फितर की नमाज अदा करने की अपील करने के लिए सोमवार को अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेंद्र बहादुर सिंह एवं नगर पुलिस अधीक्षक युवा आईपीएस अधिकारी अर्पित विजयवर्गीय एवं नगर मजिस्ट्रेट और सीओ सिटी ने मुजफ्फरनगर शहर का भ्रमण किया, और मुस्लिम समुदाय एवं मुस्लिम धर्मगुरुओं से पुरजोर अपील की। उन्होंने कहा कि ईदगाह और मस्जिदों के बाहर ईद की नमाज नहीं पढ़ी जाए बल्कि केवल मस्जिदों और ईद गाह के भीतर ही ईद उल फितर की नमाज अदा की जाए। मस्जिद फक्करशाह पर भी एसपी नगर अर्पित विजय वर्गीय एवं एडीएम प्रशासन नरेद बहादुर सिंह सिटी मजिस्ट्रेट और सीओ सिटी और नगर कोतवाल आनंद देव मिश्र भी मौजूद रहे।

nireekshan

अफसरों ने मस्जिद फक्करशहा के इमाम जनाब खालिद ज़ाहिद से मस्जिद परिसर में बैठ लंबी वार्ता की और कहा कि आपको अगर किसी भी मामले में कोई समस्या है, तो उन्हे बताए। पानी सफाई बिजली के लिए प्रशासन पहले ही निर्देश दे चुका है। इसके साथ ही अधिकारियों ने अपील करते हुए कहा कि नमाज़ियों का ध्यान रखें वो मस्जिद में ही नमाज़ अदा करें, रास्तो पर नही। इस पर इमाम खालिद ज़ाहिद ने कहा कि हमारा मज़हब किसी को भी तकलीफ देने की कतई इजाजत नही देता। अगर शासन और आम युवक को अब सड़को पर नमाज़ पढ़ने में किसी प्रकार की दिक्कत आती है, तो नमाज़ी मस्जिदों में ही नमाज़ अदा करेंगे इस बार उलेमा ने हर एक जुमा मस्जिद में ईद की नमाज़ पढ़ने के अहकामात जारी कर दिए हैं, जिसके कारण भीड़ सड़कों पर नहीं आ पाएगी। इसके साथ ही इमाम जनाब खालिद ज़ाहिद ने कहा कि वैसे भी नमाज़ के लिए सही रुख का होना शर्त है और सही रुख मस्जिद में ही हो सकता है, सड़क पर नहीं। जब रुख ही सही नही होगा तो नमाज़ कैसे अदा होगी। इमाम खालिद ज़ाहिद ने अधिकारियों को विश्वास दिलाया कि आपको किसी प्रकार की शिकायत का मौका नहीं मिलेगा। सभी नमाज़ी मस्जिदों में ही नमाज़ अदा करेंगे।

nireekshan

इस अवसर पर प्रमुख समाज सेवी दिलशाद पहलवान एवं मस्जिद फक्कड़ शाह के इंतजाम में लगे नूर इलाही साबरी समेत अनेकों गणमान्य नागरिक मौजूद थे। सभी ने अधिकारियों को विश्वास दिलाया कि हर प्रकार से शांति व्यवस्था बनाए रखी जाएगी एवं सभी हजरात ईद उल फितर की नमाज मस्जिदों के भीतर एवं ईद गाह के भीतर ही अदा करेंगे।