बाराबंकीः मोहर्रम त्यौहार को लेकर हुई पीस कमेटी की बैठक, शासन की गाइडलाइन की दी गई जानकारी

सद्भाव और शांति के साथ त्यौहार मनाए जाने की लोगों से की गई अपील

 
मुजफ्फरनगर

  • रिपोर्टः कपिल सिंह

बाराबंकी। मोहर्रम त्यौहार के अवसर पर जनपद में कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से जिलाधिकारी आदर्श सिंह और पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने पीस कमेटी की बैठक कलेक्ट्रेट स्थित गांधी सभागार में की। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने लोगों को शांति और सद्भाव के साथ मोहर्रम का त्यौहार मनाए जाने की अपील की। साथ ही त्योहारों के आयोजन के संबंध में शासन द्वारा जारी गाइड लाइन से भी अवगत कराया और लोगों से अपेक्षा की कि शासन और प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों पर अमल करें और सद्भाव के साथ मिलजुल कर त्यौहार मनाए।

डीएम आदर्श सिंह ने कहा कि  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और शासन की मंशा है कि शांति और सदभाव के साथ बिना किसी भेदभाव के सभी लोग मिल जुलकर त्यौहार मनाए ताकि शांति के माहौल में जनपद, प्रदेश और देश विकास के पथ पर अग्रसर रहे। सड़कों पर किसी प्रकार के धार्मिक आयोजनों की अनुमति नहीं होगी। डीएम ने कहा कि उन्हें आशा ही नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास है कि शांति और सद्भाव का संदेश देने वाले जनपदवासी पूर्व त्योहारों की भांति मुहर्रम त्यौहार को भी सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाएगे।

बाराबंकी

जिलाधिकारी आदर्श सिंह ने कहा कि सभी जानते है कि मोहर्रम के दिन ताजिया को लेकर कर्बला की ओर लेकर जाते हैजो परंपरा है। मोहर्रम के दौरान जुलूस की अनुमति लेनी होगी तथा आयोजकों की सूची सम्बन्धित अधिकारी के पास होनी चाहिए। ताजिया का आकार न्यूनतम रखा जाये। किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न होने पाये, कहीं कोई समस्या उत्पन्न होती है तो स्थानीय स्तर पर पुलिस या तहसील से समाधान प्राप्त करें।

पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने कहा का मोर्हरम के जुलूस में बड़ी संख्या में लोग शामिल होते है। जो आयोजक है एक कागज पर सूची बनाकर अनुमति अवश्य ले। उन्होंने कहा कि अनावश्यक रूप से शस्त्र का प्रदर्शन न किया जाये। जुलूस का समय जो निर्धारित है उसी समय पर जुलूस निकाला जाये। सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक व अफवाह वाली वीडियो या फोटो न वायरल की जाये। यदि कोई अप्रिय घटना होती है तो सम्बन्धित अधिकारी को सूचित किया जाये। उन्होने कहा कि त्यौहारों के मद्देनजर सावन का माह भी चल रहा है, माहौल बिगाड़ने वाले के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।

बैठक के दौरान अपर जिलाधिकारी राकेश सिंह, एएसपी उत्तरी पूर्णेन्दु सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी, समस्त उपजिलाधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक, धर्मगुरू समेत संबंधित लोग मौजूद रहे।