एस्सार समूह ने आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील को बंदरगाहों के संचान को बेचने का किया सौदा

2.4 अरब डॉलर के सौदे पर किए हस्ताक्षर

 
ArcelorMittal Nippon Steel

दिल्ली। एस्सार समूह ने शुक्रवार को आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील लिमिटेड को अपने कुछ बंदरगाहों और बिजली बुनियादी ढांचा बेचने के लिए एक सौदे की घोषणा की। ये सौदा 2.4 अरब डॉलर (19,000 करोड़ रुपये) में हुआ है। आपको बता दे ये भारत में महामारी के बाद हुए बड़े विलय और अधिग्रहण सौदों में एक है।

एस्सार ने कहा कि उसने कुछ बंदरगाहों और बिजली बुनियादी ढांचे की परिसंपत्तियों को बेचने के लिए आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील के साथ एक बाध्यकारी समझौता किया है। ये परिसंपत्तियां मुख्य रूप से हजीरा इस्पात संयंत्र के परिचालन से संबंधित हैं। इस सौदे में गुजरात के हजीरा में 10 लाख टन सालाना एलएनजी टर्मिनल बनाने के लिए एस्सार और आर्सेलर मित्तल के बीच 50-50 प्रतिशत के संयुक्त उद्यम साझेदारी की भी व्यवस्था है।

आर्सेलर मित्तल निप्पॉन स्टील ने कहा कि इस सौदे में गुजरात, आंध्र प्रदेश और ओडिशा स्थित बंदरगाह संपत्तियों के साथ ही हजीरा में दो बिजली संयंत्र और एक बिजली पारेषण लाइन शामिल हैं। कंपनी ने 2018-19 में दिवालियापन की कार्रवाई में एस्सार स्टील का लगभग 42,000 करोड़ रुपये में अधिग्रहण किया था। बता दे कि बाद में ये मामला अदालत में चला गया। इस बारे में अब दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया है।


देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें पाने के लिए अब आप समाचार टुडे के Facebook पेज Youtube और Twitter पेज से जुड़ें और फॉलो करें। इसके साथ ही आप SamacharToday को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है।