दिल्ली के दीपों से दिवाली पर जगमगाएगा देश और विदेश, कोरोना के बाद अब कारोबार ने पकड़ी रफ्तार

कारीगर बोले- दीए के दामों में नहीं हुआ इजाफा, मिट्टी के बढ़ा दिए दाम  

 
DELHI

  • रिपोर्टः मोहम्मद अज़ीज़ सैफी

दिल्ली। देश में कोरोना के कारण कारोबार हुए ठप थे तो अब कारोबार ने रफ्तार पकड़ी है। वहीं अगर मिट्टी के बर्तनों और दीपावली पर रोशनी के लिए जलाए जाने वाले दीपों की बात करें वेस्ट दिल्ली के विकास नगर प्रजापत कॉलोनी में तो यहां घर के हर सदस्य दिन रात एक कर काम मे जुटे हुए हैं ताकि ज़्यादा से ज़्यादा दिए बना सकें और मुनाफा भी कमा सकें। दीपावली के आने से ठीक पहले विकास नगर प्रजापत कॉलोनी में बनने वाले दिए खासतौर पर डिजाइनर दिए। दिल्ली के अलावा कई अन्य राज्यों से लेकर विदेश भी जाते हैं। कहने का मतलब साफ है कि दिल्ली के बने दिए से दिवाली पर पूरा देश और विदेश जगमगाता है।

विकास नगर के प्रजापत कॉलोनी में इन दिनों दिन-रात प्रजापत समाज के लोग सामान्य दिए, डिजाइनर दिए समेत सजावट के सामान होम डेकोरेटिव आइटम्स जो मिट्टी के बनाए जाते हैं उसे बनाने में जुटे हुए हैं यहां का बना समान हरियाणा, यूपी, पंजाब,राजस्थान, महाराष्ट्र समेत कई अन्य राज्यों के अलावा डिजाइनर दिए कि विदेश में भी मांग है। इनका मानना है कि करोना ने 2 साल इनका कारोबार चौपट कर दिया था लेकिन इस बार बाजार में खासतौर पर डिजाइनर दीयों की मांग है। जिसे बनाने में ये लगे हुए हैं। हालांकि लगातार बढ़ती महंगाई का असर इनके काम को भी प्रभावित कर रहा है इनकी माने तो दीये बनाने में जिस मिट्टी का इस्तेमाल किया जाता है वह मिट्टी हरियाणा से आती है और इस बार मिट्टी के दामों में काफी बढ़ोतरी हुई है इतना ही नहीं दीये को पकाने के लिए लकड़ी के जिस बुरादे का इस्तेमाल किया जाता है उस के दामों में भी भारी बढ़ोतरी हो गई है लेकिन उस हिसाब से इनके दीयों के दाम नहीं बढ़ पाए हैं।

अब ऐसे में इस सीजन के खत्म होने के बाद इनके लिए बेकार हो जाएंगे इसलिए मजबूरी में इन्हें औने पौने दामों में दिए को बेचने पड़ते हैं इस बात से इन्हें काफी तकलीफ है कि जिस तरह से अन्य सामान जिससे दिए बनाए जाते हैं उन के दामों में जिस हिसाब से बढ़ोतरी हुई है उस हिसाब से इनके दिए के दाम नहीं बढ़े हैं हालांकि फिर भी ये खुश है कि 2 साल के अंतराल के बाद इनके काम ने रफ्तार पकड़ी है।


देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें पाने के लिए अब आप समाचार टुडे के Facebook पेज Youtube और Twitter पेज से जुड़ें और फॉलो करें। इसके साथ ही आप SamacharToday को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है।