जेल का खौफ दिखाकर गरीब परिवार से वसूली घूस, लाइनमैन के मोबाइल पर ऑनलाइन ट्रांसफर की गई रकम

महज दो महीने के बकाया बिल पर अवर अभियंता ने छापा मारते हुए की कार्रवाई, मुकदमा दर्ज कराने का खौफ दिखाकर वसूले 3 हजार रुपये
 
electricity
  • ब्यूरो रिपोर्ट

मुजफ्फरनगर। जेल भेजने का खौफ दिखाकर ग्रामीण से बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने 3 हजार रुपये वसूल लिए। हालांकि ये रकम कोई बहुत बड़ी रकम नहीं है, लेकिन आपको जानकर ताज्जुब होगा कि जिस ग्रामीण परिवार से ये तीन हजार रुपये की रकम वसूल की गई है, वो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाला परिवार है, जो कि दो जून की रोज़ी-रोटी के लिए ईंट भट्टे पर कार्य करता है।
मामला उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले का है। भौराकलां थाना इलाके के गढ़ी नौआबाद विद्युत फिटर के अंतर्गत आने वाले ग्राम कपूरगढ़ निवासी राजवीर बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखता है और भरण-पोषण के लिए ईंट भट्टे पर परिवार समेत कार्य करता है। वाक्या मंगलवार सुबह का है, जब गढ़ी नौआबाद विद्युत फिटर से बिजली विभाग की टीम ने कपूरगढ़ गांव में छापेमार कार्रवाई की और राजवीर के घर पर दस्तक दी। 
महज दो महीने का रूका हुआ है बिल
आरोप है कि महज दो महीने के बिजली बिल का बकाया रहने पर विद्युत विभाग की टीम ने राजवीर का विद्युत कनेक्शन काट दिया और केबिल को अपने साथ ले गए। राजवीर एवं उसके परिजनों ने बिजली विभाग की इस कार्रवाई का घोर विरोध भी जताया, लेकिन अवर अभियंता और साथ आए कर्मचारियों ने उनकी एक नहीं सुनी, बल्कि मुकदमा दर्ज कराने की धमकी देकर उनके दिलों की धड़कनें तेज़ कर दी।

जेल की धमकी देकर वसूले 3 हजार रुपये
राजवीर के बेटे के मित्र आशु सैनी के मुताबिक, गांव का ही सोनू नामक एक शख्स संविदा पर उक्त बिजलीघर पर लाइनमैन है। जिसने राजवीर और उसके परिवार को जेल जाने से बचाव का रास्ता दिखाते हुए 3 हजार रुपये की डिमांड की और कहा कि वो इस रकम द्वारा सब सेटिंग करा देगा। 
लाइनमेन के नंबर पर पेटीएम कराई गई रकम
आशु सैनी के मुताबिक जेल का खौफ दिखाकर घूस के तौर पर वसूल की गई 3 हजार की रकम उस वक्त राजवीर के परिवार के पास मौजूद नहीं थी, जिस कारण उन्होंने उक्त रकम को ईंट भट्टा मालिक द्वारा लाइनमेन के मोबाइल नंबर पर पेटीएम कराई गई। 
शिकायत का विद्युत विभाग ने लिया संज्ञान
इस संबंध में आशू सैनी द्वारा किए गए ट्वीट का विद्युत विभाग ने संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दे दिए है। साथ ही आश्वासन दिया गया है कि जल्द ही उनकी शिकायत पर जांच के बाद एक्शन लिया जाएगा।

लाइनमैन ने आरोपों को नकारा
इस संबंध में जब समाचार टुडे ने लाइनमैन सोनू से बात की गई तो वो पहले तो बौखला सा गया और बताया कि ये सब झूठ है। लाइनमैन का दावा है कि वो आज बिजलीघर से कहीं गया ही नहीं, सुबह से ही बिजलीघर पर मौजूद है। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि छापा मारने आई टीम के साथ सोनू मौजूद रहा था।