टीचर और स्टूडेंट का अफेयर, पेड़ पर लटके मिले शव

18 दिन पहले घर छोड़कर हुए थे फरार

 
DEAD BODY

सहारनपुर। बिहारीगढ़ थाना इलाके में स्थित मोहंड के जंगल में पेड़ पर नाबालिग लड़की और एक युवक का फंदे पर लटका सड़ा-गला शव मिलने से सनसनी फैल गई है। उनकी शिनाख्त नागल थाना इलाके के इंटर कॉलेज में कक्षा ग्यारहवीं की छात्रा और उसी स्कूल में पढ़ाने वाले अध्यापक के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि दोनों 17 दिन से गायब थे। छात्रा के पिता ने अध्यापक के खिलाफ बेटी के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस दोनों की तलाश में लगी थी। मामला हत्या का है या आत्महत्या का, पुलिस सभी पहलुओं से जांच पड़ताल कर रही है।

दरअसल... पुलिस को मंगलवार रात सूचना मिली की मोहंड से शाकुंभरी देवी जाने वाले रास्‍ते पर स्थित जंगल में एक पेड़ पर दो शव लटके हुए मिले हैं। पुलिस ने मृतकों के शव कब्जे में लेकर पहचान के प्रयास शुरू कर दिए। मृतकों की शिनाख्त नागल थाना के एक गांव निवासी 17 वर्षीय 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा और इसी स्कूल के अध्यापक रसूलपुर खेड़ी निवासी वीरेंद्र के रूप में हुई। मृतका के परिजनों ने कपड़ों के आधार पर उनकी पहचान की है। पुलिस ने दोनों के शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिए है। घटना की जानकारी मिलने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर विपिन ताडा और अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। एसएसपी ने कहा कि सभी पहलुओं से की जा रही है।

एसएसपी ने बताया कि 3 सितंबर की रात वीरेंद्र और नाबालिग छात्रा गायब हो गए थे। लड़की के पिता ने नागल थाने में वीरेंद्र के खिलाफ अपनी बेटी के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस दोनों को तलाश कर रही थी। तलाश में एसओजी टीम को भी लगाया गया था, लेकिन वे नहीं मिले थे। मंगलवार की देर रात पुलिस को सूचना मिली कि बिहारीगढ़ थाना इलाके के जंगल मोहंड में एक लड़की और एक युवक का शव लटका हुआ है। दोनों के परिजनों को भी मौके पर बुला लिया गया था। मृतको के पास ना तो कोई सुसाइड नोट और ना अन्य सामान मिला है। एसएसपी ने कहा कि सभी पहलुओं से मामले की जांच पड़ताल की जा रही है।