मुजफ्फरनगर में चीनी का व्यापार करने वाली महिला से दिल्ली की फर्म ने की ठगी, पीड़िता ने मां-बेटे के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर

महिला व्यापारी से 230 कुंतल चीनी खरीदकर नहीं किया उसका भुगतान

 
MZN

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में चीनी का कारोबार करने वाली महिला को दिल्ली की फर्म ने ठगी का शिकार बना दिया। फर्म मालकिन और उसके बेटे ने महिला व्यापारी से 230 कुंतल चीनी खरीदकर उसका भुगतान नहीं किया। भुगतान मांगा तो धमकी मिली। धोखाधड़ी का शिकार हुई महिला व्यापारी ने आरोपि मां-बेटे पर एफआईआर कराई है।

थाना नई मंडी के वकील रोड स्थित एसपी कॉम्पलेक्स मार्किट में कपूर एजेंसी के नाम से कमीशन एजेंट के रूप में कारोबार चलाने वाली महिला व्यापारी प्रीति कपूर ने एसएसपी से उनके साथ व्यापार के नाम पर की गयी धोखाधड़ी और धमकी देने के मामले में शिकायत की थी। प्रीति कपूर ने एसएसपी से की शिकायत में बताया कि वो मैसर्स कपूर एजेंसी की प्रोपराइटर है और कपूर एजेंसी के नाम से अपनी फर्म के जरिए वो शुगर मिल के कमीशन एजेंट के माध्यम से शुगर मिलों की चीनी कमीशन बेस पर बिक्री कराने का कार्य करती है। इसी कारोबार में उनकी फर्म ने दिल्ली से चल रही फर्म उज्जवल ट्रेडर्स पीकेटी-11 ग्राउंड फ्लोर पश्चिमपुरी दिल्ली के साथ कई बार डील की। ये फर्म ज्योति बाला सेट्ठी और उनके बेटे उज्जवल सेट्ठी द्वारा चलाई जा रही है। आरोप है कि उन्होंने ज्योति सेट्ठी को 230 कुन्तल चीनी की बिक्री कराई। इसमें ज्योति सेट्ठी ने आश्वासन दिया था कि इसका भुगतान 3 दिनों में कर दिया जायेगा।

पीड़िता ने बताया कि 11 फरवरी 2022 को ये व्यापारिक डील की गयी थी और इसमें उनके द्वारा बजाज हिन्दुस्थान शुगर लिमिटेड की मिल गांव भैंसाना, थाना बुढ़ाना जनपद मुजफ्फरनगर से 60 कुंतल चीनी 2 लाख 13 हजार 570 की बिक्री की थी। इसके साथ ही इसी दिन उनकी फर्म ने बजाज हिन्दुस्थान शुगर लिमिटेड की किनौनी मिल से दो अलग अलग डील में 100 कुंतल चीनी 3 लाख 58 हजार 353 रुपये और 70 कुंतल चीनी 2 लाख 58 हजार 353 रुपये की दिल्ली की फर्म को बेची थी।

प्रीति के मुताबिक उनकी फर्म ने ज्योति शेट्टी को कुल 8 लाख 44 हजार 148 रुपये कीमत की 230 कुंतल चीनी बेची। विश्वास था कि समय से भुगतान प्राप्त हो जाएगा, क्योंकि दिल्ली की फर्म के साथ हो रहे व्यापार को लेकर भरोसा था और लगातार पेमेंट आ जा रहा था। प्रीति ने बताया कि 3 दिन बीत जाने के बाद जब उनकी फर्म के कर्मचारी ने भुगतान डिटेल की जांच की तो दिल्ली के फर्म से भुगतान नहीं किया गया। इसके बाद प्रीति ने फर्म की मालिक ज्योति से बात की और इसके बाद एजेंट चंद्रभान निवासी ईदगाह रोड शाहदरा दिल्ली के जरिए भी तकाजा कराया गया, लेकिन भुगतान के लिए आरोपी मां ज्योति और उसका बेटा उज्जवल लगातार वादा करते रहे।

प्रीति ने बताया कि 6 जुलाई 2022 को जब भुगतान के लिए उनकी फर्म के कर्मचारी ने ज्योति और उज्जवल से तकाजा किया तो वे दोनों अभद्रता पर उतर आए। आरोप है कि कर्मचारी को धमकी दी गयी कि तुम्हारी मालिक को जान से मरवाकर लाश भी गायब करा देंगे। प्रीति ने आरोप लगाया कि ज्योति और उसके बेटे ने एक साजिश रचकर उससे व्यापार के बहाने धोखाधड़ी की और 230 कुंतल चीनी हड़पते हुए 8.44 लाख रुपये की ठगी की है। प्रीति ने कहा कि उसको अपनी जान का भी खतरा बना हुआ है। इस मामले में एसएसपी ने नई मंडी थाना प्रभारी को मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए।