लखीमपुर खीरी कांडः पुलिस और परिजनों के दावे अलग-अलग, मां बोली- बेटियों को भेड़ियों की तरह झपट्टा मारकर ले गए थे दरिंदे

दुष्कर्म के बाद की गई थी दोनों बहनों की हत्या

 
लखिमपुर खिरी

लखीमपुरी खीरी। उत्तर प्रदेश के जनपद लखीमपुर खीरी में दो बहनों की हत्या के मामले में पुलिस और परिजनों के दावे अलग-अलग हैं। पुलिस का दावा है कि दोनों बहनों युवकों के साथ बाइक पर बैठकर गईं थीं। वहीं, परिजनों का आरोप है कि दोनों बहनों को बाइक पर आए तीन युवक भेड़ियों की तरह झप्पटा मारकर ले गए थे।

दरअसल लखीमपुर खीरी जिले के निघासन थाना इलाके के एक गांव में बुधवार शाम करीब 6 बजे अनुसूचित जाति की दो सगी बहनों के शव पेड़ से लटके मिले थे। आरोपियों ने पहले दुष्कर्म किया और फिर दोनों बहनों की हत्या कर दी। पुलिस ने घर में घुसकर मारपीट, दुष्कर्म, हत्या और पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज किया है। अपहरण की धारा नहीं लगाई गई है। पुलिस ने मामले से जुड़े सभी 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पीड़ित मां का कहना है कि बुधवार की शाम करीब पांच बजे दोनों नाबालिग बेटियां घर के बाहर लगी मशीन पर चारा काटने गईं थी। इसी दौरान पड़ोसी गांव के तीन युवक बाइक पर सवार होकर आए और दोनों को जबरन बाइक पर बैठाकर भागने लगे। मां ने शोर मचाते हुए बाइक सवारों का पीछा किया, लेकिन आरोपी उन्हें धक्का देकर भाग निकले। शोर सुनकर गांव वाले भी इकट्ठा हो गए और आरोपियों की तलाश शुरू की। करीब एक घंटे बाद गांव के ही एक व्यक्ति के खेत में उनके शव खैर के पेड़ से लटके हुए देखे। रोते बिलखते मां ने बताया कि पड़ोस के गांव के तीन युवक उसके घर के आसपास से निकलते रहते थे, लेकिन कभी उसको अंदाजा नहीं था कि तीनों आरोपी उनकी बेटियों को अगवाकर मार डालेंगे।

वहीं, निघासन थाना इलाके के एक गांव में दो बहनों की मौत के मामले में पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस की। पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने बताया कि दुष्कर्म के बाद दोनों बहनों की हत्या की गई थी। वारदात में कुल 6 लोग शामिल हैं। नामजद छोटू समेत छह आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। आरोपियों में छोटू, सुहेल, जुनैद, हफीजुल्लाह, करीमुद्दीन, आरिफ शामिल हैं। मुख्य साजिश कर्ता पड़ोस में रहने वाले छोटू ने ही किशोरियों से सुहैल और जुनैद की दोस्ती कराई थी। हालांकि पीड़ित परिवार के पड़ोस में रहने वाला छोटू घटना के दौरान मौके पर मौजूद नहीं था। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आरोपी दोनों बहनों को बहला फुसला के खेत में ले गए थे।

एसपी ने बताया कि सुहैल और जुनैद ने पूछताछ में दुष्कर्म की बात स्वीकारी है। पुलिस को जानकारी दी कि बुधवार को आरोपी बहला फुसलाकर दोनों लड़कियों को खेत में ले गए थे और वहां दुष्कर्म किया। एसपी के मुताबिक पूछताछ में आरोपियों ने स्वीकारा कि दोनों लड़कियां उनसे शादी की जिद पर अड़ गई थीं। जिसके बाद तीन आरोपियों सुहैल, जुनैद और हफीजुल्लाह ने दुपट्टे से दोनों बहनों की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद सबूत मिटाने के लिए दो आरोपियों कलीमुद्दीन और आरिफ को भी मौके पर बुलाया। जिन्होंने लड़कियों को फंदे पर लटकाने में मदद की। ताकि ये आत्महत्या का मामला लगे।